समाज को एक सूत्र में पिरोकर आगे बढने की जरूरतः रेखा

समाज को एक सूत्र में पिरोकर आगे बढने की जरूरतः रेखा



गोला गोकर्णनाथ, खीरी। लौह पुरुष सरदार बल्लभ भाई पटेल की 143 वीं जयंती के उपलक्ष्य में कुर्मि क्षत्रिय समाज कल्याण समिति पटेल सेवा संस्थान द्वारा प्रतिभा अलंकरण सम्मान समारोह व स्मारिका विमोचन का आयोजन किया गया। जिसमें वक्ताओं ने समाज को शिक्षा, समाजसेवा व मेधावियों को उचित मार्गदर्शन के साथ भविष्य के प्रति चिंता जाहिर की।

कार्यक्रम की मुख्य अतिथि धौरहरा सांसद रेखा वर्मा ने अपने संबोधन में समाज के विकास के साथ समाज के पिछडेपन को दूर करने, शिक्षा की समग्रता को एकीकार करते हुए समाज को एक सूत्र में पिरोने की जरुरत पर जोर दिया। उन्होंने समाज के सामाजिक, आर्थिक व राजनैतिक उत्थान के लिए समाज की कुरीतियों को दूर करने बल दिया। कार्यक्रम अध्यक्ष राज्यसंभा सांसद रवि प्रकाश वर्मा ने कहा कि सरदार पटेल किसी धर्म, जाति विशेष के नहीं थे। उनकी सोच मजबूत राष्ट्र का निर्माण करना था, हम सभी को उनकी सोच को समाज के बीच पहुंचाने की जरूरत है।

यह भी पढ़ें ..बसपा सुप्रीमो मायावती ने किया बड़ा उलट फेर, टेंशन में आ गई भाजपा

उन्होंने समाज को एकता के सूत्र में बांधने का काम किया। आज के युवा पीढ़ी को उनके बताए रास्ते पर चलने की जरूरत है। कार्यक्रम में सपा जिलाध्यक्ष अनुराग पटेल, आशीष वर्मा, महेश कनौजिया,सुरजनलाल वर्मा, प्रहलाद पटेल, सर्वेश वर्मा, राजीव वर्मा, संदीप वर्मा, संजय वर्मा, अमर सिंह पटेल, सुधा पटेल, अनिल सिंह वर्मा, एमपी सिंह, ज्ञान सिंह, सुशील वर्मा आदि ने संबोधित किया। कार्यक्रम का संचालन विनोद कुमार वर्मा ने किया जबकि आभार संस्थाध्यक्ष पटेल अशोक कनौजिया ने किया। इस मौके पर उपाध्यक्ष अरविंद पटेल, मंत्री नवनीत वर्मा, कोषाध्यक्ष पटेल संजय सिंह, आडीटर सीपी वर्मा, गोपाल कृष्ण वर्मा, सदस्य सुनील वर्मा, संजीव कुमार वर्मा आदि मौजूद रहे।

पटेल स्मारिका का हुआ विमोचन

समारोह में मुख्यअतिथि धौरहरा सांसद रेखा वर्मा कार्यक्रम अध्यक्ष राज्यसभा सांसद रविप्रकाश वर्मा,प्रहलाद पटेल सहित अन्य अतिथियों व संस्था के पदाधिकारियों द्वारा पटेल स्मारिका का विमोचन किया गया।

प्रतिभाओं का हुआ सम्मान

डॉ. आलोक वर्मा, डॉ. सुष्मिता वर्मा, डॉ. सैबी वर्मा, आयुष वर्मा,डा0 कृतिका वर्मा, डा. अंकित वर्मा,नवनीत वर्मा, अनुपमा पटेल, निरूपमा पटेल, शेखर वर्मा,जीतेश वर्मा, डा. पवन वर्मा, कौशल वर्मा, विकास, सुशील वर्मा, डा. अमित वर्मा, रजत वर्मा, विशेष वर्मा, जितेन्द्र कुमार, योगेश वर्मा, सतेन्द्र वर्मा, प्रियम वर्मा, आदित्य वर्मा, विकास वर्मा, चंद्रशेखर वर्मा, विमल वर्मा, विनीत वर्मा, अंशु वर्मा, प्रज्ञा वर्मा, अभिषेक वर्मा,विमल कुमार, कमलेश चंद, प्रिया वर्मा, हरिमोहन, धर्मेन्द्र वर्मा, शैली वर्मा, मदन गोपाल, पार्थ वर्मा, सौरभ कुमार, डा. हिमांशु, कनिष्का वर्मा, सुधीर कुमार वर्मा सहित चार दर्जन मेधावियों को स्मृति चिहन देकर सम्मानित किया गया।

यह भी पढ़ें ..पीएम मोदी ने इन पार्टियों का खत्म कर दिया था वजूद, अब ऐसे लेंगी बदला


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *