स्मार्ट सिटी योजना देश के शहरों में बदलाव की शुरुआत: हरदीप पुरी

स्मार्ट सिटी योजना देश के शहरों में बदलाव की शुरुआत: हरदीप पुरी

भारतीय शहरों में बदलाव की योजना शहरों के प्रबंधन, योजना और वित्त से संबंधित कुछ सर्वाधिक पेचीदी समस्याओं से निपटने का एक नवीन माध्यम है। उन्होंने कहा कि शहरी भारत में बदलाव के उद्देश्य को स्मार्ट सिटी योजना से लाभ होगा


भारतीय शहरों में बदलाव की योजना शहरों के प्रबंधन, योजना और वित्त से संबंधित कुछ सर्वाधिक पेचीदी समस्याओं से निपटने का एक नवीन माध्यम है। उन्होंने कहा कि शहरी भारत में बदलाव के उद्देश्य को स्मार्ट सिटी योजना से लाभ होगा

स्मार्ट सिटी योजना देश के शहरों में बदलाव की शुरुआत: हरदीप पुरी
स्मार्ट सिटी योजना देश के शहरों में बदलाव की शुरुआत: हरदीप पुरी

नई दिल्ली। केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास राज्यमंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि सरकार की स्मार्ट सिटी योजना देश के शहरों के बदलाव की सिर्फ शुरुआत है और इस योजना को सिर्फ 99 चिन्हित क्षेत्रों तक सीमित नहीं रखा जाएगा। पुरी ने कहा कि मौजूदा शहरों में पूर्ण बदलाव विश्व के इतिहास में पहले कभी नहीं किया गया। आप समय के साथ नए शहरों का निर्माण कर सकते हैं, लेकिन पुराने शहरों का नवीनीकरण करने के लिए रणनीतिक दृष्टिकोण और संसाधनों के सावधानीपूर्वक उपयोग की जरूरत है। स्मार्ट सिटी योजना देश के शहरों में बदलाव की शुरुआत: हरदीप पुरी …

यह भी पढ़ें :- सुल्तान अजलान शाह कप के लिए पुरुष हॉकी टीम घोषित

केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास राज्यमंत्री हरदीप सिंह पुरी मंगलवार को एक समीक्षा एजेंसी को साक्षात्कार दे रहे थे। उन्होंने कहा कि भारतीय शहरों में बदलाव की योजना शहरों के प्रबंधन, योजना और वित्त से संबंधित कुछ सर्वाधिक पेचीदी समस्याओं से निपटने का एक नवीन माध्यम है। उन्होंने कहा कि शहरी भारत में बदलाव के उद्देश्य को स्मार्ट सिटी योजना से लाभ होगा।

उन्होंने कहा कि इस योजना से नई अवधारणा, नए मॉडल और नई कार्यप्रणालियों का सृजन होगा, जिसे देश के अन्य शहर अंगीकार कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि स्मार्ट सिटीज हमारे देश में पूरे शहरी क्षेत्र को प्रतिबिंबित करेंगे। उन्होंने बताया कि देशभर से 99 शहरों को स्मार्ट सिटी बनाए जाने के लिए चिन्हित किया गया है। उन्होंने कहा कि हमारे देश में छोटे-बड़े हर आकार के शहर हैं, जहां अलग-अलग तरह की आर्थिक गतिविधियां चलती हैं और इन सभी शहरों का सामाजिक और सांस्कृतिक परिदृश्य भी अलग है। पुरी ने कहा कि शहरी क्षेत्र में हमारे कार्यो के सभी पहलुओं से ‘सबका साथ, सबका विकास’ का सिद्धांत स्पष्ट होगा।

यह भी पढ़ें :- मुख्य सचिव के साथ ‘बदसलूकी’ पर आप और भाजपा में तकरार


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *