सैनिक हमें सुरक्षित रहने का कराते हैं अहसास: राज्यपाल

सैनिक हमें सुरक्षित रहने का कराते हैं अहसास: राज्यपाल



सैनिक हमें सुरक्षित रहने का कराते हैं अहसास: राज्यपाल
सैनिक हमें सुरक्षित रहने का कराते हैं अहसास: राज्यपाल

लखनऊ। प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि देश की सीमाओं का सुरक्षित होना देश की अस्मिता और सम्मान के लिये आवश्यक है। सैनिकों के त्याग और बलिदान के कारण ही देशवासी सुख और शांति का जीवन व्यतीत करते हैं। उन्होंने कहा कि सेना देश के लिये क्या करती है यह जानकार समाज में एक भावनात्मक जुड़ाव पैदा होगा। विपरीत और विषम परिस्थितियों से जुझकर हमारे सैनिक हमें सुरक्षित रहने का अहसास कराते हैं।

राज्यपाल ने कहा कि पर्यटक जिस तरह ऐतिहासिक स्थल देखने जाते हैं उसी तरह देश पर शहीद होने वालों के सम्मान में निर्मित स्मृतिका को भी देखें। छात्र-छात्राओं और युवाओं को सेना और सेना के शहीदों से जुड़े स्थल दिखाए जायें ताकि उन्हें देशभक्ति की प्रेरणा मिले। उन्होंने कहा कि सेना के लोग अपने शहीदों को कितना सम्मान देते हैं स्मृतिका जाकर यह देखने को मिलता है।

यह भी पढ़ें :- पुरानी रंजिश में देवरों ने भाभी को किया घायल

राज्यपाल नाईक गुरूवार को सीमा जागरण मंच द्वारा लखनऊ पब्लिक कॉलेज में आयोजित वाद-विवाद एवं निबन्ध प्रतियोगिता के विजेता छात्र-छात्राओं को प्रशस्ति पत्र एवं नकद पुरस्कार देकर सम्मानित किया। यह प्रतियोगिता तीन श्रेणी क्रमश: कक्षा 5 से 8, कक्षा 9 से 12 तथा स्नातक से परास्नातक तक के विद्याथियों के मध्य आयोजित की गई थी, जिसमें लगभग प्रदेश के 80 हजार से छात्र-छात्राओं ने सहभाग किया था।

यह भी पढ़ें :- यूपी के 22 जनपदों में बिछेगा पाइपलाइन गैस कनेक्शनों का जाल

राज्यपाल ने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि पुरस्कार प्राप्त करने वाले 18 विद्यार्थियों में 14 छात्राएं हैं। महिलाएं हर क्षेत्र में आगे आ रही हैं। आज हर क्षेत्र में महिलाएं प्रतिनिधित्व कर रही हैं। हमारे देश की रक्षा मंत्री भी महिला है। उन्होंने कहा कि उचित वातावरण मिलता है तो महिलाएं आगे बढ़ सकती हैं। उन्होंने कहा कि महिला सशक्तीकरण के लिए यह एक शुभ संकेत है। पुरस्कार वितरण समारोह में विशिष्ट अतिथि संघ के सह प्रांत संघचालक डॉ, हरमेश चौहान, राज्य मंत्री स्वाती सिंह, सांसद कौशल किशोर, सीमा जागरण मंच के उपाध्यक्ष भानु प्रताप सिंह, संयोजक डॉ. श्रीकांत शुक्ला सहित मंच पर अन्य पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

ये हुए पुरस्कृत

पुरस्कार पाने वालों में राखी श्रीवास्तव, तन्मय गुप्ता, साक्षी, जान्वही शुक्ला, देवांशी, सुधाकर वर्मा, प्रिया बाजपेई, निधि आर्या, परिमलिक, पलक गुप्ता, हिमांशु रावत, अंशिका, प्राची दुबे, समीक्षा चौहान, ज्योति साहू, प्रज्ञा मिश्रा, जागृति सिंह आदि शामिल हैं। सांत्वना पुरस्कार प्रिया, मोहम्मद आजम खां व सानिया खातून को मिला। कार्यक्रम में अन्य पदाधिकारियों व निर्णायक मण्डल के सदस्यों को सम्मनित किया गया।

यह भी पढ़ें :- अब चाय पर नहीं सच्चाई पर चर्चा हो: अखिलेश


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *