किसानों पर बल प्रयोग करना सरकार का कायराना कदम: अखिलेश

किसानों पर बल प्रयोग करना सरकार का कायराना कदम: अखिलेश



लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि महोबा में ओलावृष्टि से बर्बाद हुई फसल के मुआवजे की मांग कर रहे किसानों पर बर्बर बल प्रयोग करना सरकार का कायराना कदम है। नोटबंदी में सरकार ने कहा था कि अमीरों से पैसे लेकर गरीबों को देगी पर यह भी 15 लाख के वादे की तरह जुमला निकला। इसीलिए आज किसान सरकार के खिलाफ सडक़ों पर मारा-मारा धक्के खा रहा है।

यह भी पढ़ें :- ऐशबाग-मैलानी के बीच बड़ी रेल लाइन का ट्रायल मार्च में

अखिलेश ने कहा कि भाजपा सरकार किसानों के साथ शत्रुतापूर्ण व्यवहार कर रही है। हाल में ओलावृष्टि से किसानों की फसलें बुरी तरह बर्बाद हुई हैं। किसान पहले से ही परेशानियों से गुजर रहा है। कर्जमाफी के नाम पर उसके साथ भाजपा की राज्य सरकार ने जबर्दस्त धोखा किया है। खाद, बीज, कीटनाशक, की सुचारू व्यवस्था न होने से और अपनी फसल का लागत मूल्य भी न मिल पाने से किसान बदहाली की जिंदगी जी रहा है। वह क्षुब्ध होकर आत्महत्या कर रहा है।

यह भी पढ़ें :- मुख्यमंत्री ने ओलावृष्टि से हुए नुकसान की 48 घंटे में मांगी रिपोर्ट, 50 करोड़ जारी

अखिलेश ने कहा कि प्रदेश सरकार सुनियोजित तरीके से डेरी उद्योग से जुड़े किसानों को भी हतोत्साहित कर रही है। गाय को मां कहने वाली सरकार ये नहीं चाहती कि किसान गाय पाले। जहां एक ओर खेती-किसानी के कार्यों में सरकार कोई मदद नहीं कर रही है वहीं कृषि उत्पादकों के संरक्षण और संवर्धन में भी प्रदेश सरकार के पास कोई नीति नहीं है। वस्तुत: सरकार की नीतियां कारपोरेट जगत के लिए बनी हैं, किसान के लिए नहीं। कर्ज किसान को नहीं, व्यापारी को दिया जाता है। किसानों को तो बस अपमानित किया जाता है और बदनाम किया जाता है।

यह भी पढ़ें :– वेलेंटाइन डे पर एंटी रोमियो नहीं बाराती बनकर पहुंची पुलिस

अखिलेश ने कहा कि भाजपा किसानों के दु:ख दर्द सुनने को भी तैयार नहीं है। महोबा में किसान बर्बाद फसल के मुआवजे की मांग करने लगे तो उन पर बर्बरता से लाठीचार्ज कर दिया गया। उनकी आवाज दबाने के लिए हवाई फायरिंग भी की गई। किसानों की गिरफ्तारी भी हुई है। पूरे क्षेत्र में पुलिस पीएसी का आतंक है।

यह भी पढ़ें :- किसान ने खेत में लगाई लाल बिकीनी पहने सनी लियोनी की तस्वीर, वजह जानकर रह जाएंगे हैरान


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *