गैरराजद दलों की बैठक में सोनिया गांधी ने कहा, आपसी मतभेद भुलाकर एकजुट होना होगा

गैरराजद दलों की बैठक में सोनिया गांधी ने कहा, आपसी मतभेद भुलाकर एकजुट होना होगा



गैरराजद दलों की बैठक में सोनिया गांधी ने कहा, आपसी मतभेद भुलाकर एकजुट होना होगा
गैरराजद दलों की बैठक में सोनिया गांधी ने कहा, आपसी मतभेद भुलाकर एकजुट होना होगा
  • गैरराजद दलों की बैठक में सोनिया गांधी ने कहा, आपसी मतभेद भुलाकर एकजुट होना होगा

नई दिल्ली। मोदी सरकार की ओर से संसद में बजट पेश होने के बाद गुरुवार को संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 17 गैर-राजग दलों के नेताओं की बैठक की। बैठक में कई मुुद्दों पर चर्चा की। इसके अलावा उन्होंने संसद और उसके बाहर विपक्षी एकता का आह्वान किया। कांग्रेस संसदीय दल की नेता और संप्रग अध्यक्ष सोनिया ने कहा कि विपक्षी नेताओं को राज्य के मुद्दों पर अपने मतभेदों को एकतरफ रख देना चाहिए तथा राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा से टक्कर लेने के लिए साथ आना चाहिए। बता दें कि इस बैठक को सभी 17 पार्टियों का समर्थन मजबूत करने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है। इससे पहले ये पार्टियां राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति चुनाव के दौरान सत्तारूढ़ पार्टी के खिलाफ एकजुट हुई थीं।

यह भी पढ़ें :- डु प्लेसिस के शतक पर भारी पड़ा ‘विराट’ शतक, भारत की जीत

हम सभी को एकजुट रहना चाहिए

संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी और 17 गैर-राजग दलों के नेताओं की बैठक के बाद वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने पत्रकारों से बतचीत की। उन्होंने बताया कि सोनिया गांधी ने बैठक में सभी दलों से एकजुट होने का आह्वïान किया। सोनिया गांधी ने कहा कि हम सभी को संसद और उसके बाहर साझा पहल एवं रणनीति अपनानी चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्यों में विभिन्न दलों के बीच मतभेद हो सकते हैं, लेकिन राष्ट्रीय मुद्दों पर मतभेद नहीं होना चाहिए। हमें एकजुट रहना चाहिए।

यह भी पढ़ें :- बेडरूम में मिला मंत्री और उनकी पत्नी शव

धर्म और जाति को लेकर फैलाई जा रही हिंसा

सोनिया गांधी ने कहा कि धर्म और जाति को लेकर फैलाई जा रही हिंसा तथा राष्ट्रीय सरोकार से जुड़े कई अन्य मुद्दों पर हमें चौकस रहना होगा।  सोनिया गांधी ने कहा कि देश में जाति और धर्म के आधार पर व्यापक हिंसा हो रही है। संवैधानिक संस्थानों को कमतर किया जा रहा है। हम सभी को एकजुट होकर इससे मुकाबला करना होगा। सोनिया गांधी ने संसद के वर्तमान बजट सत्र में संयुक्त रणनीति बनाने और आगामी चुनावों में भाजपा से टक्कर लेने के लिए एकजुटता के लिए विपक्षी दलों का समर्थन मांगा।

यह भी पढ़ें :- प्रधानमंत्री की सांसदों से अपील, आम जनता को आसान भाषा में समझाएं बजट

बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खडग़े, राकांपा प्रमुख शरद पवार, नेशनल कांफ्रेंस प्रमुख फारूक अब्दुल्ला, राजद की मीसा भारती एवं जय प्रकाश नारायण यादव, तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन, भाकपा नेता डी राजा तथा सपा के रामगोपाल यादव और नरेश अग्रवाल, माकपा के मोहम्मद सलीम और टीके रंगराजन, जदएस नेता कुपेंद्र रेड्डी, शरद यादव, रालोद के अजित सिंह, झामुमो के संजीव कुमार, एआईयूडीएफ के बदरुद्दीन अजमल, केरल कांग्रेस के जॉय अब्राहम शामिल हुए।

यह भी पढ़ें :- प्रवासी पक्षियों के शिकार के लिए रखे गए जहर से मवेशियों की मौत, दर्जनों बीमार

गैरराजद दलों की बैठक में सोनिया गांधी ने कहा, आपसी मतभेद भुलाकर एकजुट होना होगा


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *