मन की बात में मोदी ने कहा, महिलाओं के लिए कुछ भी असंभव नहीं

मन की बात में मोदी ने कहा, महिलाओं के लिए कुछ भी असंभव नहीं



नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि महिलाओं के पास अगर मजबूत इच्छाशक्ति हो तो उनके लिए कुछ भी असंभव नहीं है। मोदी ने अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला को उनकी पुण्यतिथि (एक फरवरी) से पहले याद करते हुए कहा कि कल्पना ने सभी भारतीयों खासकर युवतियों को बहुमूल्य संदेश दिया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ की 40वीं कड़ी में सम्बोधित कर रहे थे। मोदी ने कहा कि ‘महिलाओं के लिए कुछ भी असंभव नहीं, अगर उनके पास मजबूत इच्छा शक्ति है’। मोदी ने कहा कि भारत में महिलाएं हर क्षेत्र में प्रगति कर रही हैं और पूरे विश्व को चकित कर रही हैं। उन्होंने कहा कि पवित्र वेदों के कई छंद महिलाओं द्वारा रचे गए थे।  उन्होंने 2018 के अपने पहले रेडियो कार्यक्रम में कहा कि मैं आपको बताता हूं कि एक बेटी 10 बेटों के बराबर है। जो पुण्य हम 10 बेटों से प्राप्त करते हैं, वह हमें केवल एक बेटी से प्राप्त हो सकता है।

यह भी पढ़ें :-  मेघालय चुनाव: कांग्रेस उम्मीदवारों की सूची जारी, संगमा दो सीटों से लड़ेंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को हाल ही में पद्म पुरस्कार से सम्मानित हस्तियों की प्रशंसा की और इस तथ्य को भी सराहा कि अब ये पुरस्कार बिना किसी सिफारिश के मिलने लगे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अगर आप करीब से ध्यान दें, तो आप देखेंगे कि हमारे बीच में बहुत से महान लोग मौजूद हैं और यह गर्व की बात है कि उनमें से कितने लोग बिना किसी सिफारिश के इतनी ऊंचाई तक पहुंच रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि पद्म पुरस्कारों की प्रक्रिया को कैसे उनकी सरकार ने पिछले तीन साल में बदल कर पारदर्शी बना दिया है, जिसके चलते अब कोई भी इन प्रतिष्ठित पुरस्कारों के लिए नामांकन दे सकता है।

यह भी पढ़ें :-  #IPL auction: स्टोक्स, पांडे, राहुल को मिली ऊंची कीमत, मलिंगा नहीं बिके

उन्होंने कहा कि चयन प्रक्रिया में अब पारदर्शिता आ गई है। पूरी प्रक्रिया बदल गई है, आपने यह देखा होगा कि अधिक से अधिक सामान्य लोगों को ये पुरस्कार मिल रहे हैं। ऐसे लोग जो आमतौर पर महानगरों, समाचार पत्रों, टीवी पर नहीं दिखाई देते। उन्होंने कहा कि पुरस्कार प्राप्त करने के लिए उनकी पहचान को नहीं, बल्कि उनके काम को महत्व मिलने लगा है। प्रधानमंत्री ने अपनी बात को साबित करने के लिए सुभाषिनी मिस्त्री, लक्ष्मी कुट्टी, भज्जु श्याम समेत पद्म पुरस्कार से सम्मानित किए गए कई लोगों के नाम भी लिए। मोदी ने कहा कि ये सभी लोग सामान्य वर्ग से ताल्लुक रखते हैं।

यह भी पढ़ें :-  दर्जी को बंधक बना कर बदमाशों ने की लूटपाट, एसओ लाइन हाजिर


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *