पत्नी व नवजात बच्ची का गला रेतकर पति ने दी जान

पत्नी व नवजात बच्ची का गला रेतकर पति ने दी जान



लखनऊ। प्रदेश की राजधानी लखनऊ के मडिय़ांव थाना क्षेत्र में पति ने पहले अपनी पत्नी और दो माह की नवजात बच्ची की गला रेतकर हत्या कर दी। फिर खुद भी जहर खाकर जान दे दी। अस्पताल कर्मियों ने शवों को देख पुलिस को सूचना दी। मौके पर फोरेंसिक एक्सपर्ट, डॉग स्क्वॉयड और फिंगरप्रिंट दस्ते के साथ पहुंची पुलिस ने शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस ने मौके से पति का लिखा गया सुसाइड नोट और हत्या में प्रयुक्त चाकू बरामद हुआ है। सुसाइड नोट में मृतक ने अपनी पत्नी की बहनों पर प्रताडऩा का आरोप लगाया है। पुलिस सुसाइड नोट के आधार पर मामले की जांच पड़ताल कर रही है।

यह भी पढ़ें :-  पेट्रोल कीमतें तीन साल के उच्चस्तर पर, डीजल ने भी बनाया रिकॉर्ड

जानकारी के मुताबिक, काकोरी के दुर्गागंज निवासी परशुराम (30) अपनी दूसरी पत्नी नीलू उर्फ नीरू (26) व दो माह की नवजात बच्ची बिट्टू के साथ प्रभाकर नर्सिंग होम के पीछे बने सर्वेंट क्वार्टर नंबर बीवाई-4 में रहता था। बताते हैं कि बुधवार तडक़े साढ़े तीन बजे परशुराम ने कमरे में सो रही अपनी पत्नी की गला रेत कर हत्या कर दी और फिर पास में ही सो रही बच्ची बिट्टू का भी गला रेत मौत के घाट उतार दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद परशुराम ने जहरीला पदार्थ खा लिया। हालत बिगडऩे पर उसके चिखने-चिल्लाने की आवाज सुन कर आए अस्पताल कर्मियों ने पुलिस को सूचना दी। इस बीच परशुराम की भी मौत हो गई। उधर सूचना मिलने पर फोरेंसिक एक्सपर्ट, डॉग स्क्वॉयड और फिंगरप्रिंट दस्ते के साथ पहुंची पुलिस ने शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

यह भी पढ़ें :-  बदमाश बेखौफ, अब पूर्व डीजीपी की बहन की चेन लूटी

पुलिस को मृतक परशुराम के पास से दो सुसाइड नोट बरामद हुए है, जिसमें से एक पर मृतक अपनी बर्बादी का कारण अपनी पत्नी व उसकी दो बड़ी बहनें बेबी व छोटी बहन अजरा को बताया है। मृतक ने लिखा कि नीरू उसे गांव में रहने वाले  पहली  पत्नी के दो बच्चों से मिलने नहीं देती थी। मृतक ने लिखा कि उसकी पत्नी नीरू और उसकी दोनों बहने शादीशुदा लोगों को फंसाकर रकम ऐंठ कर बर्बाद करती हैं। इंस्पेक्टर मडिय़ांव अमरनाथ वर्मा ने बताया कि शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है। मौके से सुसाइड नोट और हत्या में प्रयुक्त चाकू बरामद हुआ है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें :-  दावोस में बोले मोदी, दुनिया के सामने तीन सबसे बड़ी चुनौतियां


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *