राष्ट्रवाद अभियान के लिए समर्पित है विद्यार्थी परिषद : योगी

राष्ट्रवाद अभियान के लिए समर्पित है विद्यार्थी परिषद : योगी



लखनऊ। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने सोमवार को लखनऊ स्थित पारा में अपना 57वां अधिवेश आयोजित किया। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि परिषद की स्थापना राष्ट्रशक्ति बदलने के लिए हुई है। उन्होंने कहा कि परिषद कभी लाभ हानि की चिन्ता नहीं करता। बस उसकी चिन्ता राष्ट्रहित के लिए होती है। सीमा सुरक्षा, स्वदेशी, कश्मीर, शिक्षा की विषमता, ज्यादा फीस के मुद्दे पर केवल परिषद के लोगों ने संघर्ष किया है।

सामाजिक समरसता व भाईचारा को बढ़ावा देता है खिचड़ी भोज: अशोक

उन्होंने कहा कि देखने के लिए नजर नहीं नजरिया चाहिए। योगी ने आन्ध्र के जन्मान्ध किसान परिवार की चर्चा भी की। उन्होंने विद्यार्थियों को प्रेरणा देते हुए कहा कि मजबूत इच्छाशक्ति से बधाएं दूर होती है। परिस्थित अनुकूल होने की प्रतिक्षा न करें। नकारात्मक सोंच को छोड़कर सकारात्मक बने। शराब न पीने की भी प्रेरणा दी। योगी ने कहा कि एक युवा के सोंचने का नजरिया बेहतर होना चाहिए। दृढ़ इच्छा शक्ति से युवा को आगे बढ़ना चाहिए। छात्र शक्ति को राष्ट्र शक्ति में बदलने के लिए एबीवीपी की स्थापना हुई। एक मिशन राष्ट्रवाद, एक धर्म राष्ट्रधर्म को आगे बढ़ाना है। यही एबीवीपी के उद्देश्य है। बहुत से छात्र संगठन देश विरोधी नारे लगाते हैं। हमारी छात्र शक्ति नेशन पावर को बढ़ाने की ताकत है।

मंदिर जाने के संकोची आज मंदिर-मंदिर जाकर सुधार रहे अपनी गलती

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा। कहा कि जिसने अपने को एक्सीडेन्टल हिन्दू कहा था आज उसकी चौथी पीढ़ी अपने को जनेउधारी हिन्दू बता रहे। यह एक व्यापक परिवर्तन है। जो लोग मंदिर जाने में संकोच करते थे। आज वो मंदिर-मंदिर जाकर अपनी गलती सुधार रहे हैं।

अमेरिका में अब हमारे प्रधानमंत्री के शासन की होती है चर्चा

उन्होंने कहा कि दुनिया भर में परिवर्तन आया है। अब अमेरिका, रूस और भारत सबसे बड़ी ताकत के रूप में हैं। अमेरिका में अब हमारे प्रधानमंत्री के शासन की चर्चा होती है। अभविप देश की सीमाओं की सुरक्षा के सवाल पर सामने आता है।

प्राइवेट स्कूलकों की मनमानी नहीं चलने देंगें

योगी ने कहा कि प्राइवेट स्कूलकों की मनमानी नहीं चलने देंगें। उसके लिए हमने एक्ट बना दिया है। शिक्षा में आसमानता को दूर करना हमारी सरकार का लक्ष्य है। हमनें युवाओं को नौकरी की दिशा में काम करना शुरू कर दिया है। अधीनस्थ चयन आयोग में 60 हजार नवयुवकों को नियुक्ति मिलेगी। इस अवसर पर मौजूद अभाविप राष्ट्रीय संगठन मंत्री सुनील आम्बेकर ने कहा कि विद्यार्थी परिषद जेएनयू ही नहीं सभी राष्ट्रविरोधी तत्वों का प्रतिरोध करेगी। केरल की सरकार राजनीतिक हिंसा करने वालों को संरक्षण दे रही है।

प्रो. विश्वम्भर शुक्ल विवेक भारती मानद उपाधि से सम्मानित


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *