आजादी के लिए अनेक युवाओं ने लगाई जान की बाजी: सुरेश राणा

आजादी के लिए अनेक युवाओं ने लगाई जान की बाजी: सुरेश राणा



फैजाबाद। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा साकेत महाविद्यालय के सभागार में स्वामी विवेकानंद की जयंती पर एक गोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में उत्तर प्रदेश सरकार के चीनी उद्योग मंत्री सुरेश राणा उपस्थित रहे। उन्होंने अपने सम्बोधन में कहा कि स्वामी विवेकानन्द का जीवन आज के युवाओं के लिए एक प्रेरणादायी साहित्य के समान है। भारतीय इतिहास में अनेकों युवाओं ने देश की आजादी के लिए मुस्कुराते हुए अपने जान की बाजी लगा दी। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् आज ऐसे ही युवाओं के मन में राष्ट्रभक्ति की अलख को जगाकर देश समाज हेतु कार्य करने के लिए प्रतिबद्ध है।

यह भी पढ़ें :-  पवन हंस हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त, 4 शव बरामद

चीनी उद्योग मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि अपने लिए जिंदगी जीने के लिए तो हजारों आते हैं और मरकर गुमनाम हो जाते हैं। परंतु देश के लिए जीने वाले मरने के बाद भी चंद्रशेखर आजाद, रामप्रसाद बिस्मिल, भगत सिंह, अशफाक उल्ला खान जैसे शहीदों की भांति याद किये जाते हैं। कायक्रम के मुख्य वक्ता डॉ. देवानन्द तिवारी ने कहा कि स्वामी विवेकानन्द के विचारों में भारतीय संस्कृति की रक्षा व प्रसार हेतु संकल्प था।स्वामी विवेकानंद ने अपने जीवन में पुरातन का आधुनिकीकरण व आधुनिकीकरण का राष्ट्रीयकरण के सिद्धान्त पर बल दिया।

इस अवसर पक विशिष्ट अतिथि अयोध्या नगर निगम के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने कहाकि जिस प्रकार शिकागो धर्म सम्मेलन में विवेकानन्द जी ने मात्र सम्बोधन भर से भारतीय संस्कृति की शक्ति को विश्व भर में जगा दिया था। वह उनके आध्यात्मिक तेज का उत्कृष्ट उदाहरण है। साकेत महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. प्रदीप खरे ने धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन परिषद् के विभाग सह संयोजक अंकित शुक्ला ने किया।

यह भी पढ़ें :-  दुर्घटना में बाइक सवार की मौत

इस मौके पर प्रांत संगठन मंत्री सत्यभान, प्रान्त सहमंत्री अनीश गुप्ता, जिला संयोजक अंकुर सिंह, जिला सह संयोजक बृजेश वर्मा, मनीष सिंह, अविनाश प्रताप, आयूष मिश्र, रविकांत, कृष्णकांत, करन मौर्य, शशांक कसौधन, साकेत छात्रसंघ महामंत्री अंकित त्रिपाठी, शुभम तिवारी, वरिष्ठ छात्रनेता सुजीत विक्रम, शिवेंद्र सिंह, ध्रुवराज सिंह, जनमेजय सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष अवधेश पाण्डेय बादल, राधेश्याम त्यागी, आकाश सिंह आदि  कार्यकर्ता उपस्थित रहे

यह भी पढ़ें :-  न्यायिक संकट: प्रधान न्यायाधीश बागी न्यायाधीशों से रविवार को मिलेंगे


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *