पवन हंस हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त, 4 शव बरामद

पवन हंस हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त, 4 शव बरामद



मुंबई। पवन हंस कंपनी का एक हेलीकॉप्टर शनिवार सुबह यहां मुंबई के जुहू हवाईअड्डे से उड़ान भरने के थोड़ी ही देर बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हेलीकॉप्टर में ओनएजीसी के पांच शीर्ष अधिकारी और दो पायलट सवार थे। भारतीय तटरक्षक (आईसीजे) और अन्य एजेंसियों ने बड़े पैमाने पर समुद्री और हवाई तलाशी अभियान शुरू किया, और दुर्घटनाग्रस्त हेलीकॉप्टर के कुछ हिस्सों के अलावा चार शव बरामद कर लिए हैं।

यह भी पढ़ें :-  न्यायिक संकट: प्रधान न्यायाधीश बागी न्यायाधीशों से रविवार को मिलेंगे

अग्रिम नामक आईसीजे के जहाज ने अरब सागर से पंकज गर्ग नामक एक यात्री के शव सहित चार शव बरामद किए हैं। हेलीकॉप्टर पर सवार ओएनजीसी के अधिकारियों की पहचान सर्वननन, वीके बाबू, जोश एंटनी, गर्ग और पी. श्रीनिवासन के रूप में हुई है, और ये सभी उपमहाप्रबंधक थे। पवन हंस के दो पायलटों की पहचान अभी जाहिर नहीं हो पाई है। आईसीजे के एक अधिकारी ने कहा कि दुर्घटनाग्रस्त हेलीकॉप्टर का मलबा ठाणे जिले के उत्तान बीच के पास पाया गया है। डॉफिन हेलीकॉप्टर ने सुबह 10.20 बजे उड़ान भरी और 15 मिनट बाद ही मुंबई एटीसी और तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम (ओएनजीसी) दोनों जगहों से इसका संपर्क टूट गया। उस समय हेलीकॉप्टर मुंबई तट से समुद्र में लगभग 55 किलोमीटर दूर उड़ रहा था, जो अधिकारियों को ओएनजीसी के बम्बई हाई ऑयलफील्ड्स पहुंचाने के लिए एक नियमित उड़ान पर था। बंबई हाई यहां से उत्तर पश्चिम में 175 किलोमीटर की दूरी पर है।

यह भी पढ़ें :-  एक गांव का नहीं पूरे पूर्वांचल का है ‘गोरखपुर महोत्सव’ : मुख्यमंत्री

एक आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा है कि भारतीय तटरक्षक ने तलाशी और बचाव अभियान के लिए दुर्घटना वाले क्षेत्र में पांच जहाज, दो डोर्नियर विमान और दो हेलीकॉप्टर तैनात किए हैं। इसके अलावा नौसेना के चार पोत (इसमें वाटरजेट फास्ट अटैक क्राफ्ट आईएनएस तरासा शामिल है), एक बोइंग पी8आई और एक सीकिंग हेलीकॉप्टर तलाशी अभियान में जुटे हुए हैं। तलाशी और बचाव अभियान शाम तक जारी रहा। सांताक्रूज पूर्व के कालिना इलाके में स्थित सिल्वर स्क्वेयर सीएचएस इमारत में मातम पसरा हुआ है, जहां गर्ग अपनी पत्नी, एक नाबालिक बच्ची, और महाराष्ट्र के बाहर इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रही एक बेटी के साथ पिछले 15 सालों से रह रहे थे। सोसायटी के सचिव जॉय फर्नाडीस ने शाम को मीडियाकर्मियों से कहा कि वह बहुत ही अच्छे व्यक्ति, महान इंसान और मददगार स्वभाव के थे। हम सभी सोसायटी के सदस्य इस त्रासदी से सदमे में हैं।

यह भी पढ़ें :-  ठंड से एक और मौत, जिला प्रशासन ने किया खारिज


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *