बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी पीजीआई से डिस्चार्ज, बांदा जेल वापस भेजे गए

बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी पीजीआई से डिस्चार्ज, बांदा जेल वापस भेजे गए



लखनऊ। बाहुबली बसपा विधायक मुख्तार अंसारी की सभी रिपोर्ट सामान्य आने के बाद गुरुवार को उन्हें एसजीपीजीआई (संजय गांधी पीजी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज) से डिस्चार्ज कर बांदा जेल के लिए रवाना कर दिया गया। वहीं, मुख्तार अंसारी को कुछ दिन और अस्पताल में रखना चाह रहे परिजनों ने अस्पताल प्रशासन और प्रदेश सरकार के निणर्य पर आपत्ति जताई। परिजनों प्रदेश सरकार और अस्पताल प्रशासन पर इलाज में लापरवाही बरतने का अरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। इसके बावजूद भी मुख्तार को अस्पताल से डिस्चार्ज कराकर पुलिस वापस बांदा ले गई।

यह भी पढ़ें :- युवाओं के लिए ‘पॉलिटेक्निक चलो अभियान’ चलाएगी सरकार

बता दें कि मंगलवार मंडल कारागार बांदा में पत्नी और बेटों से मुलाकात के दौरान मऊ से बसपा के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी बेहोश हो गए थे। उनके साथ उनकी पत्नी की भी तबियत खराब हो गई थी। इसके बाद उन्हें लखनऊ के संजय गांधी पीजीआई में एडमिट कराया गया था। मंगलवार रात ही उनकी एंजियोग्राफी और ईसीजी जांच करायी गई थी। एंजियोग्राफी में सब मामला दुरुस्त होने पर बुधवार को मुख्तार को प्राइवेट वार्ड में शिफ्ट किया गया था।

यह भी पढ़ें :- राजनीतिक ही नहीं प्रोफेशनल लोगों का भी सपा में स्वागत: अखिलेश

मऊ विधायक की सभी रिपोर्ट सामान्य आने के बाद मुख्यमंत्री योगी के निर्देश पर गृह विभाग को उन्हें बांदा जेल भेजने का आदेश जारी किया। जिसके बाद आज उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया और बांदा रवाना कर दिया गया। वहीं, मुख्तार अंसारी के परिवार वाले उन्हें अभी कुछ और दिन पीजीआई में रखना चाहते थे। उनको डिस्चार्ज करने पर मुख्तार अंसारी के भाई पूर्व सांसद अफजाल और बेटे अब्बास अंसारी ने अस्पताल प्रशासन और प्रदेश सरकार पर आरोप लगाया और कहा कि मंत्रियों के दबाव में उन्हें डिस्चार्ज किया गया है।

यह भी पढ़ें :- शास्त्री जी की सादगी, सच्चाई और ईमानदारी करती है प्रेरित : योगी


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *