भाजपा में ‘एक शीर्ष स्तरीय’ मेरे खिलाफ रच रहा है साजिश : तोगडिय़ा

भाजपा में ‘एक शीर्ष स्तरीय’ मेरे खिलाफ रच रहा है साजिश : तोगडिय़ा



गांधीनगर। विश्व हिंदू परिषद के नेता प्रवीण तोगडिय़ा ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी में ‘उच्च स्तर पर विराजमान कोई’ उनके खिलाफ साजिश रच रहा है। परिषद के अंतर्राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि इस व्यक्ति की कोशिश है कि 1996 के हत्या के प्रयास के एक मामले में अदालत द्वारा जारी समन उन तक न पहुंचे और वह इसमें फंसकर जेल चले जाएं। अदालत ने शुक्रवार को तोगडिय़ा के खिलाफ जारी एक गैर जमानती वारंट को निरस्त कर दिया।

यह भी पढ़ें :- रिलायंस जियो का एक और नया ऑफर, नौ जनवरी से होगा लागू

प्रवीण तोगडिय़ा ने कहा कि आज अदालत ने वारंट को निरस्त कर दिया और मुझे अदालत में जब कभी मामले की सुनवाई होगी, पेश होना होगा। गैर जमानती वारंट इसलिए मेरे खिलाफ जारी हुआ, क्योंकि मैंने इसके पहले जारी समन का जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा कि पुलिस ने वो समन मुझे दिए ही नहीं। मुझे इस आशय की सूचना मिली है कि यह (राज्य के) गृह मंत्री और मुख्यमंत्री के दखल के बिना किसी उच्च पदस्थ द्वारा जान बूझकर किया गया। तोगडिय़ा ने कहा कि ऐसा ही पाटीदार आंदोलन के समय हुआ था जब (तत्कालीन) मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल ने कहा था कि उन्होंने आंदोलनकारियों पर लाठीचार्ज का आदेश नहीं दिया था। यह वैसा ही मामला है।

यह भी पढ़ें :- तीन तलाक विधेयक कानून बनने से दोहरे अत्याचार का शिकार होंगी मुस्लिम महिलाएं: मायावती

उन्होंने कहा कि (उप मुख्यमंत्री) नितिन पटेल, (मुख्यमंत्री) विजय रूपाणी ऐसा नहीं करेंगे। मैं अहमदाबाद में था और फिर भी मुझे समन नहीं दिया गया, क्यों? मुझे कई बार लगता है कि मेरी आवाज को दबाया जा रहा है। मैं बाद में खुलासा करूंगा कि इस सब के पीछे कौन है। तोगडिय़ा ने कहा कि भाजपा को आम चुनाव में स्पष्ट जनादेश के बावजूद, वे चुनावी वादे क्यों नहीं पूरे कर रहे हैं। मैं इसके खिलाफ अपनी आवाज उठाता रहा हूं और इसीलिए जान बूझकर मेरी आवाज दबाई जा रही है। बता दें कि हत्या के प्रयास का यह मामला तोगडिय़ा समेत 39 लोगों पर चल रहा है। इसमें भाजपा के कई नेता शामिल हैं। याचिकाकर्ता भी भाजपा के पूर्व विधायक जगरूप सिंह राजपूत हैं।

-आईएएनएस

यह भी पढ़ें :- पति ने स्वेटर नहीं दिलाया तो पत्नी ने मौत को लगाया गले


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *