रामनगरी के प्रमुख मंदिरों में है प्रिया प्रीतम केलिकुंज मंदिर

रामनगरी के प्रमुख मंदिरों में है प्रिया प्रीतम केलिकुंज मंदिर



अयोध्या। वैसे तो मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम की धर्मनगरी अयोध्याधाम में लगभग 7000 मठ-मदिंर है, जिनमें श्री रामजन्मभूमि, कनक भवन, हनुमानगढ़ी, नागेश्वर नाथ, क्षीरेश्वरनाथ, कालेराम, मणिराम छावनी, मणिपर्वत, श्री रामवल्लभाकुंज, दशरथ महल आदि प्रमुख मठ-मदिंर है। इन्हीं मे से एक है रामनगरी के वासुदेवघाट मोहल्ले स्थित प्रियाप्रीतम केलिकुंज मंदिर, जिसका धर्मनगरी में बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान है। प्रतिदिन यहां बड़ी संख्या में श्रधालु आते हैं और मन्दिर में स्थापित भगवान  श्री राम और हनुमान जी के विग्रह  का दर्शन कर धन्य होते हैं। जिसका अंदाजा हर रोज यहां जुटने वाली भक्तों की भीड़ से लगाया जा सकता है।

दिगम्बर जैन मंदिर के चौकीदार की निर्मम हत्या

मन्दिर में प्रतिदिन होने वाले आरती व पाठ से पूरी अयोध्या नगरी गुंजायमान रहती है। इस मधुरमय ध्वनि से उठने वाली महक से श्रद्धालु बरबस ही खिंचे हुए चले आते हैं, जो इस मनमोहक छटा में डूबने को मजबूर दिखते हैं। इनको देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि मानो इस धराधाम पर भक्त स्वर्ग की अनुभूति कर रहे हो और भगवान पुन: स्वर्ग से उतरकर इन लोगों के साथ अठखेलियां खेल रहे हों।

बॉलीवुड कलाकार आशुतोष राणा ने रामलला के दरबार में लगाई हाजिरी

मन्दिर के महंत रामगोविन्द शरण महाराज ने बताया कि इस आश्रम की अयोध्यानगरी में बहुत ही अधिक महत्वतता है। देश भर में लाखों की संख्या इस आश्रम के भक्तगण हैं। यही नहीं विदेशों में भी मंदिर के अनुयायी हैं, जो समय-समय पर यहां आते हैं तथा  धार्मिक उत्सवों में सम्मिलित होकर पुण्य के भागीदार बनते हैं। यह रसिक पीठ है, जिसकी स्थापना हमारे गुरुदेव स्वामी प्रियाप्रीतम शरण महाराज द्वारा कई वर्षों पूर्व की गई है।

मैथिली निकुंज मन्दिर के महंत बने उमेश शरण

स्वामी जी की गणना अयोध्यानगरी के प्रमुख विद्वानों में होती थी। यहां के सभी साधु-संत इनका सम्मान करते थे। महंत ने कहा कि यह मंदिर बहुत ही फलित मंदिर है। यहां आने वाले लोगों की हर मुरादें पूरी होती हैं। भक्तों को यहां  से कभी खाली हाथ नहीं जाना पड़ता है। यही आश्रम की मुख्य विशेषता है।

फर्रुखाबाद और बांदा में भी बलात्कारी बाबा वीरेंद्र दीक्षित के आश्रम पर छापा, 53 महिलाएं बरामद


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *