हिमाचल: मुख्यमंत्री के नाम को लेकर मंथन के बाद लौटे पर्यवेक्षक, सस्पेंस बरकरार

हिमाचल: मुख्यमंत्री के नाम को लेकर मंथन के बाद लौटे पर्यवेक्षक, सस्पेंस बरकरार



शिमला। हिमाचल प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की शानदार प्रदर्शन के बाद अब मुख्यमंत्री के नाम को लेकर पार्टी में माथापच्ची का दौर जारी है। मुख्यमंत्री के नाम को लेकर केंद्रीय आलाकमान दो पर्यवेक्षकों को हिमाचल भेजा था, लेकिन दो दिन चली बैठकों के बावजूद अभी तक किसी नाम पर सहमति नहीं बन सकी है। बताया जा रहा है कि दोनों पर्यवेक्षक हिमाचल से दिल्ली लौट चुके हैं।

यह भी पढ़े:- बॉलीवुड कलाकार आशुतोष राणा ने रामलला के दरबार में लगाई हाजिरी

बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार प्रेमकुमार धूमल के अपनी सीट हार जाने के बाद यह स्थिति सामने खड़ी हुई है। वहीं, दूसरी ओर भाजपा की प्रदेश इकाई में गुटबाजी शुरू हो गई। एक गुट प्रेमकुमार धूमल को मुख्यमंत्री बनाने की मांग कर रहा है तो दूसरा गुट पांच बार के विधायक जयराम ठाकुर को बनाने की मांग कर रहा है। अब देखना ये है कि केंद्रीय आलाकमान किसे हिमाचल में बिठाते हैं। इस बीच पार्टी में चर्चा है कि केंद्रीय नेतृत्व किसी चुने गए विधायक को विधायक दल का नेता बना चाहता है।

यह भी पढ़े:- मैथिली निकुंज मन्दिर के महंत बने उमेश शरण

मीडिया में जारी खबरों में मुताबिक, भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व एक विधायक को प्रदेश का नया मुख्यमंत्री चुन सकती है। ऐसे में बताया जा रहा है कि पार्टी से पांच बार के विधायक जयराम ठाकुर को इस पद की दौड़ में सबसे आगे माने जा रहे हैं। वहीं धूमल को मुख्यमंत्री बनाने की कोशिशें भी तेजी पकड़ रही है। बताया जा रहा है चुनाव हारने के बाद भाजपा के तीन विधायकों ने उनके लिए सीट खाली करने की पेशकश कर दी है।

यह भी पढ़े:- राजकीय कृषि प्रक्षेत्र जमुनाबाद के दो प्रभारी निलम्बित, एक के विरुद्ध कार्रवाई प्रस्तावित

भजपा के सूत्रों की मानें तो पार्टी में इस बात पर पूरा जोर दिया जा रहा है कि एक निर्वाचित विधायक राज्य में सरकार का नेतृत्व करें। नए नेता के नाम की कल घोषणा किये जाने की संभावना जताई जा रही है।

यह भी पढ़े:- भूमि घोटाला: ईडी ने दो मुख्य जालसाजों को किया गिरफ्तार


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *