पुलिस पब्लिक फ्रेंडली बने तो जनता बनेगी इंटेलिजेंस का स्रोत: योगी

पुलिस पब्लिक फ्रेंडली बने तो जनता बनेगी इंटेलिजेंस का स्रोत: योगी



लखनऊ। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पुलिस पब्लिक फ्रेंडली बन जाए तो इंटेलिजेंस का सबसे बड़ा स्रोत आम जनता बन जाएगी। उन्होंने कहा कि हमें जनता में ऐसा विश्वास जगाना होगा कि लोग विश्वसनीय तरीके से पुलिस को जानकारी दे सकें। उन्होंने कहा कि सूचना के आदान-प्रदान के साथ-साथ घटनाओं की रोक-थाम के लिए यदि एक सिस्टम बने तो आपराधिक घटनाओं पर अंकुश लगेगा ही, साथ ही आतंकवाद, नक्सलवाद व अलगाववाद जैसी घटनाओं पर नियंत्रित किया जा सकेगा।

यह भी पढ़े:-  पत्नी, बेटी व पड़ोसी को गोली मार सेल्समैन ने की खुदकुशी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार को गोमतीनगर स्थित यूपी-100 भवन में आयोजित तृतीय नार्दर्न रीजनल पुलिस कोआर्डिनेशन कमेटी की बैठक को संबोधित कर रहे थे। योगी ने कहा कि प्रदेश में कई चुनौतियां हैं। उन्होंने कहा कि पिछले नौ महीनों में हमने महसूस किया है कि तकनीक के साथ-साथ अपराध और सुरक्षा से जुड़ी हुई समस्याएं भी बढ़ी हैं। योगी ने कहा कि समन्वय बैठक में विचारों के आदान-प्रदान के साथ-साथ सक्सेस स्टोरीज पर भी चर्चा की जानी चाहिए। अन्य राज्यों की बेस्ट प्रैक्टिसेज के आदान-प्रदान से अच्छे परिणाम देखने को मिलेंगे।

यह भी पढ़े:- भतीजी पर ब्लेड से किया हमला, मुकदमा दर्ज

उन्होंने कहा कि प्रदेश ने महिला और सुरक्षा की दिशा में काफी काम किया है। कई पहल की गई हैं, जिनसे महिलाओं पर होने वाले अपराधों मे कमी आई है। उन्होंने कहा कि अपराध के मुख्य कारणों में भूमि संबंधी विवाद भी काफी होते हैं। एंटी भूमाफिया टास्क फोर्स गठित करके हम लोगों ने उत्तर प्रदेश में 1.53 लाख ऐसे मामले चिन्हित किए और हमने प्रभावी कार्रवाई शुरू की है। इसके परिणाम भी सामने आए हैं। उत्तर प्रदेश जैसे राज्य में, जहां जातीय व साम्प्रदायिक तनाव की घटनाएं होती रही हों, उस पर प्रभावी अंकुश लगाने की दिशा में भी हमारी सरकार ने काम किया है।

यह भी पढ़े:- कोयला घोटाला: झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा समेत चार दोषी करार

योगी ने एनआरपीसीसी के दौरान डीजी सीआईएसएफ ओपी सिंह, डीजी जम्मू-कश्मीर एसपी वैद, डीजीपी यूपी सुलखान सिंह और डीडीजी, एनसीबी (एनआर) आरपी सिंह के साथ चर्चा की। बैठक में हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर, पंजाब, हरियाणा, नई दिल्ली व चंडीगढ़ के डीजीपी, पुलिस कमिश्नर व अधिकारी मौजूद रहे।

यह भी पढ़े:- ईवीएम सुरक्षित, नहीं हो सकती गड़बड़ी: पूर्व सीईसी कृष्णमूर्ति


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *