निकाय चुनाव में भाजपा का दबदबा, लखीमपुर व मोहम्मदी पालिका भाजपा की झोली में

निकाय चुनाव में भाजपा का दबदबा, लखीमपुर व मोहम्मदी पालिका भाजपा की झोली में



  • पलिया में सपा व गोला में निर्दलीय प्रत्याशी ने दर्ज की जीत
  • खीरी नगर पंचायत में पहली बार फहराया भाजपा का झंडा

लखीमपुर खीरी। नगर पालिकाओं व नगर पंचायतों में खड़े सैकड़ों प्रत्याशियों में से केवल दस को ही मेहनत का फल मीठा मिला। चुनाव से पहले सभी बड़ी पार्टियां अपने प्रत्याशियों की जीत का दावा कर रही थीं। परिणाम आया तो दमखम निर्दलियों का नजर आया। चार नगर पालिकाओं में भाजपा ने दो और सपा ने एक सीट जीती। भाजपा प्रत्याशी निरुपमा बाजपेई ने पड़े मतों में से 35.8 प्रतिशत मत हासिल कर जीत दर्ज की। उन्हें 22663 मत मिले जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वंदी एवं बसपा प्रत्याशी रमामोहन बाजपेई को 19986 (32.58) प्रतिशत मत पाकर दूसरे स्थान पर ही संतोष करना पड़ा। निरुपमा बाजपेई ने प्रतिद्वंदी रमामोहन बाजपेई को 2677 मतों के अंतर से पराजित किया। इस सीट पर सपा उम्मीदवार डाण् उमा कटियार को महज 9174 दो बार चेयरमैन रहने वाले ज्ञान प्रकाश बाजपेई की बहू लता बाजपेई को 7726 और निर्दलीय प्रत्याशी पारुल गुप्ता को 1932 मत ही मिले। कांग्रेस ने इस सीट से अपना उम्मीदवार नहीं उतारा था और चुनाव में वह लता बाजपेई का समर्थन कर रहे थे।

विजयी प्रत्याशियों और समर्थकों ने जमकर उड़ाई आचार संहिता की धज्जियां

मोहम्मदी नगर पालिका परिषद सीट पर भाजपा और मेहरोत्रा का परिवार का कब्जा इस बार भी बरकरार रहा। भाजपा के टिकट से चुनाव लडने वाले एवं निवर्तमान चेयरमैन दुर्गा मेहरोत्रा के पति संदीप मेहरोत्रा को हालांकि इस चुनाव में सपा प्रत्याशी कार्तिक तिवारी से कड़ा मुकाबला मिला। संदीप मेहरोत्रा को जहां 10272 मत मिले वहीं सपा प्रत्याशी कार्तिक तिवारी को 10052 लोगों ने अपना समर्थन दिया। इस प्रकार संदीप को महज 220 मतों से ही जीत मिली। बीएसपी प्रत्याशी मोहम्मद सत्तार मंसूरी को केवल 479 मत मिले। गोला नगर पालिका परिषद में स्थिति कमोबेश मोहम्मदी वाली ही रही। यहां निवर्तमान चेयरपर्सन मीनाक्षी अग्रवाल का ही दबदबा बरकरार रहा। मीनाक्षी अग्रवाल को कुल पड़े मतों में से 42.57 प्रतिशत (12789) वोट मिले। उन्होंने दूसरे स्थान पर रहे भाजपा प्रत्याशी विजय कुमार (7168) को 5621 मतों के भारी अंतराल से हराया। तीसरे स्थान पर रहे सपा प्रत्याशी को 4847 मत ही प्राप्त हुए। दीगर पार्टियों के प्रत्याशियों में सबसे बुरा हाल बसपा का रहा। प्रत्याशी जफर उल्ला के हक में केवल 777 मत ही आए और उनकी दुर्गति का आलम यह रहा कि दो निर्दलीय प्रत्याशी भी उनसे आगे ही रहे।

भाजपा नेताओं का निकाय चुनाव में नहीं चला जादू

पिछले कार्यकाल में विवाद रहने वाले निवर्तमान चेयरमैन एवं भाजपा प्रत्याशी केबी गुप्ता का पदच्युत कर सपा प्रत्याशी महमूद हुसैन ने परचम लहराया। महमूद को कुल मतों में से 7246 मत मिले जो पड़े कुल मतों का 32.13 प्रतिशत था। दूसरे पायदान पर आलोक कुमार मिश्र रहे। उन्हें 6557 मत मिले। आलोक को 489 मतों से हराकर महमूद ने जीत दर्ज की। निवर्तमान चेयरमैन केबी गुप्ता तीसरे पायदान पर पहुंच गए। उन्हें महज 5380 मतों से ही संतोष करना पड़ा। कांग्रेस प्रत्याशी मोहम्मद वशीम को 742 मतों से ही संतोष करना पड़ा। नगर पंचायत खीरी के चुनाव में इतिहास ही बदल गया। यहां हमेशा कोई मुस्लिम ही चेयरमैन बनता था। लेकिन इस बार हुए चुनाव में यहां मुस्लिमों का गढ़ तोड़ते हुए जहां एक हिन्दू महिला ने अध्यक्ष पद हथियाया बल्कि महिला को उम्मीदवार बनाने वाली बीजेपी को भी यहां परचम लहराने में कामयाबी हासिल हुई। सुधा ने निवर्तमान चेयरमैन फहीम अहमद की पत्नी उज्मा बी को महज 50 वोटों से हराकर ऐतिहासिक जीत दर्ज की। सुधा को जहां 3002 मत मिले तो वहीं उज्मा बी को 2952 का समर्थन प्राप्त हुआ।

निकाय चुनाव परिणाम आते ही ‘कहीं खुशी, कहीं गम’ का माहौल

पूर्व चेयरमैन उस्मानियां खातून को भी 2654 मत मिले। आम आदमी पार्टी की शगुफ्ता रजी को 464 और बसपा की जीनत को 289 मतों से ही संतोष करना पड़ा। धौरहरा नगर पंचायत से कांग्रेस की सना खान ने भाजपा की सुषमा को हराया। सना खान को 4962 और सुषमा को 3701 वोट मिले सना ने सुषमा को 1261 वोटों से हराया। ओयल नगर पंचायत में निर्दल प्रदीप गुप्ता सोनू ने भाजपा के अम्बरीश सिंह को हराया। प्रदीप गुप्ता को 3626 वोट हासिल हुए। अम्बरीश को 1662 वोट मिले। यहां प्रदीप ने अम्बरीश को 1964 वोटों से पराजित किया। मैलानी नगर पंचायत में निर्दलीय सत्यवती ने सपा के जगदीश को हराया। सत्यवती को 2115 वोट मिले। जगदीश को 1887 वोट हासिल हुए। सत्यवती ने सपा के जगदीश को 228 वोटों से हराया। सिंगाही नगर पंचायत में भाजपा के उत्तम मिश्रा ने सपा के मोहम्मद कय्यूम को हराया। उत्तम मिश्रा को 5400 वोट मिले। कय्यूम को 4864 वोट हासिल हुये। उत्तम मिश्रा ने कय्यूम को 536 वोटों से हराया।

टिलरसन विदेश मंत्री पद पर बने रहेंगे: व्हाइट हाउस


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *