सुप्रीम कोर्ट, हाई कोर्ट के न्यायाधीशों के वेतन, पेंशन को कैबिनेट की मंजूरी

सुप्रीम कोर्ट, हाई कोर्ट के न्यायाधीशों के वेतन, पेंशन को कैबिनेट की मंजूरी



नई दिल्ली। केंद्रीय कैबिनेट ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के न्यायाधीशों के वेतन, ग्रेच्युटी, भत्ते और पेंशन की समीक्षा को मंजूरी दे दी। साथ ही सेवानिवृत्त हो चुके न्यायाधीशों को भी इस योजना में शामिल किया जाएगा। एक आधिकारिक बयान में इस बात की जानकारी दी गई है। प्रतिभूतियों में वृद्धि एक जनवरी, 2016 से प्रभावी होगी, जिसका फायदा सुप्रीम कोर्ट के 31 न्यायाधीशों (भारत के प्रधान न्यायाधीश सहित) और उच्च न्यायालयों के 1079 न्यायाधीशों (मुख्य न्यायाधीशों सहित) को मिलेगा। लगभग 2,500 सेवानिवृत्त न्यायाधीशों को भी इस योजना का लाभ होगा।

भारत की इस मिसाइल के आगे दुश्मनों के छूटेंगे छक्के

आधिकारिक बयान में कहा गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाले केंद्रीय मंत्रिमंडल ने सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के न्यायाधीशों और सेवानिवृत्त न्यायाधीशों के वेतन, ग्रेच्युटी, भत्ते, पेंशन आदि में संशोधन को मंजूरी दे दी है। योजना के तहत पहली जनवरी, 2016 से संशोधित वेतन, ग्रेच्युटी, पेंशन और पारिवारिक पेंशन का बकाया एकमुश्त भुगतान किया जाएगा।

गुजरात में भी ‘पद्मावती’ की रिलीज पर प्रतिबंध

कैबिनेट का यह फैसला लोकसेवकों के संबंध में 7वें केंद्रीय वेतन आयोग की सिफारिशों के कार्यान्वयन के बाद आया है। मंजूरी के लिए सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों (वेतन और सेवा शर्ते) अधिनियम, 1958 और उच्च न्यायालय के न्यायाधीशों (वेतन और सेवा शर्ते) अधिनियम, 1954 में संशोधन की आवश्यकता होगी। सरकार संसद के आगामी शीतकालीन सत्र में इन दोनों अधिनियमों में संशोधन करने के लिए विधेयक ला सकती है।

गुजरात चुनाव के बाद होगा संसद का शीतकालीन सत्र


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *