सपा सरकार में मुसलमान हुए थे बर्बाद: मौलाना जव्वाद

सपा सरकार में मुसलमान हुए थे बर्बाद: मौलाना जव्वाद



फैजाबाद। राम मंदिर-बाबरी विवाद का हल अगर आपसी बातचीत से निकल आता है तो अच्छी बात है लेकिन अगर बातचीत से कोई नतीजा नहीं निकलता है तो मुसलमान हर कीमत पर सुप्रीम कोर्ट के ही फैसले को मानेगा। वह चाहे मस्जिद की जगह पर मन्दिर के ही पक्ष में क्यों न हो। यह कहना है आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य व शिया धर्मगुरु मौलाना सैय्यद कल्बे जव्वाद नकवी का। उन्होंने कहा कहा कि वह इस सुलह समझौता वार्ता से अलग है, लेकिन वह कोर्ट का हर फैसला मानेगा।

विवाहिता का शव फांसी पर लटका मिला, हत्या का शक

शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी द्वारा बाबरी मस्जिद स्थल को मंदिर बनाने के लिए हिन्दुओं को सौंपे जाने के सवाल पर मौलाना जव्वाद ने कहा कि बाबरी मस्जिद की जगह शिया वक्फ बोर्ड द्वारा किसी और को देने का कोई हक नहीं है। वक्फ बोर्ड सरकार के अधीन होता है और वसीम रिजवी सरकार के नौकर हैं। भाजपा सरकार को लेकर किए सवाल पर उन्होंने कहा कि सपा सरकार के शुरुआती छह माह में ही सौ से ज्यादा दंगे उत्तर प्रदेश में हो गये थे। जबकि भाजपा सरकार में अभी तक कोई ऐसी बात नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि स्लाटर हाउस चलाने के लिए जो क्राइटएरिया कानून में है उसे पूरा करना चाहिये। उन्होंने कहा कि जो सरकार हमारा समर्थन करेगी, हम उसका समर्थन करेंगे।

योजनाओं का नाम बदलकर अवाम को धोखा दे रही केंद्र सरकार: पूर्व मंत्री

मौलाना जव्वाद रविवार को शहर के इमामबाड़ा जवाहर अली खां में अंजुमने आबिदया के तत्वावधान में आयोजित बहत्तर ताबूत जुलूस की मजलिस को खिताब करने आए थे। यहां एक प्रेस वार्ता में उन्होंने कहा कि हर सरकार में कोई न कोई खराबी होती है लेकिन सपा सरकार में तो मुसलमान बर्बाद हो गये। आज तक मुजफ्फरनगर दंगे से वहां के मुसलमान उबर नहीं पाये हैं। मोदी सरकार पर उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने मुसलमानों के हक में कोई अच्छा काम नहीं किया तो नुकसान भी नहीं किया। कांग्रेस सरकार में तो सौ प्रतिशत मुसलमानों का नुकसान हुआ है।

योजनाओं का नाम बदलकर अवाम को धोखा दे रही केंद्र सरकार: पूर्व मंत्री


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *