हार्दिक पटेल को तगड़ा झटका, दो पाटीदार नेता भाजपा में शामिल

हार्दिक पटेल को तगड़ा झटका, दो पाटीदार नेता भाजपा में शामिल



गांधीनगर। गुजरात विधानसभा चुनाव और पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएएस) की मनसा में आयोजित एक विशाल रैली से कुछ ही घंटे पहले पाटीदार नेता हार्दिक पटले को तगड़ा झटका तब लगा, जब समूह के दो पूर्व सदस्यों और संयोजकों ने शनिवार को सत्ताधारी पार्टी भाजपा का दामन थाम लिया। बता दें कि अमरीश और केतन पटेल पीएएएस नेता हार्दिक पटेल के पूर्व सहयोगी हैं। जिन्होंने पटेल आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी और दोनों भगवा पार्टी में शामिल हो गए हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी की हालत नाजुक, आईसीयू में

अमरीश पटेल पर 2015 में कोटा आंदोलन के दौरान पीएएएस समूह के पटेल आंदोलन में अहम भूमिका निभाने के लिए हार्दिक के साथ देशद्रोह का आरोप लगा था। वह अपने समर्थकों के साथ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के ’श्री कामलम’ मुख्यालय पुहंचे और पार्टी में शामिल हुए।

काम किया है काम करेंगे, भाजपा जैसे झूठे वादे नहीं करेंगे : सपा

उस वक्त एक तथ्य यह उभर कर सामने आया था कि देशद्रोह के आरोप के बावजूद, अमरीश को गिरफ्तार नहीं किया गया था। केतन पटेल शनिवार सुबह भगवा पार्टी में शामिल हुए। उन्होंने भी पटेल आंदोलन के शुरुआती चरण के दौरान समूह में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। हार्दिक के एक और करीबी चिराग पटेल ने शुक्रवार को भगवा पार्टी का दामन थाम लिया था। चिराग भी पीएएएस समूह के संयोजकों में से एक हैं।

हार्दिक के समर्थन में पाटीदारों की रैली

पिछले माह हार्दिक के दोस्त और पीएएएस संयोजक वरुण पटेल भाजपा खेमे में शामिल हो गए थे। जबकि पीएएएस समूह का महिला चेहरा रेशमा पटेल ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की थी। राज्य में आरक्षण आंदोलन पटेल आंदोलनकारियों के लिए राजनीतिक आकांक्षाएं पूरी करने के लिए एक वरदान साबित हुआ है।

समाज में जहर घोलने वाले प्रत्याशियों को चुनाव से पृथक करे आयोग: कांग्रेस


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *