टेक्सास के गिरजाघर में गोलीबारी, 26 की मौत

टेक्सास के गिरजाघर में गोलीबारी, 26 की मौत



वाशिंगटन। अमेरिका के टेक्सास स्थित बैपटिस्ट समुदाय के एक गिरजाघर में रविवार को सैन्य-शैली के राइफल से लैस एक हमलावर ने वहां प्रार्थना के लिए पहुंचे लोगों पर अंधाधुंध गोलियां बरसाईं, जिसमें 26 लोगों की मौत हो गई। उसने बैलिस्टिक वेस्ट पहन रखी थी। यह घटना सैन एंटोनियो से लगभग 45 किलोमीटर दक्षिणपूर्व सदरलैंड स्प्रिंग्स में घटी।

मीडिया विश्वसनीयता बनाए रखे, आत्ममंथन करे: मोदी

कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने एक चैनल को बताया कि हमलावर की पहचान डेविन पैट्रिक केली (26) के रूप में की गई है, जो हमले के तुरंत बाद मारा गया। हालांकि, अभी हमलावर की मौत के कारणों का पता नहीं चल पाया है। पुलिस के मुताबिक, केली ने सुबह 11 बजे रविवार सुबह की प्रार्थना सभा शुरू होने के कुछ ही देर बाद गिरजाघर में गोलियां चलानी शुरू कर दी। उसके पास रूगर सैन्य शैली की राइफल थी और कुछ ही मिनटों में इस छोटे से गिरजाघर में मौजूद कई लोगों की मौत हो चुकी थी और कई घायल हो गए थे। इस हादसे के पीडि़तों में पांच से लेकर 72 वर्ष तक की उम्र के लोग थे। मृतकों में कई बच्चे, एक गर्भवती महिला और पादरी की 14 साल की बेटी भी शामिल है। एक चैनल के मुताबिक, इस हमले में 20 लोग घायल हुए हैं। टेक्सास के न्यू ब्रॉनफेल्स का रहने वाला डेविस न्यू मैक्सिको में वायु सैन्यकर्मी के तौर पर तैनात था लेकिन पत्नी और बच्चे के साथ मारपीट के आरोपों के बाद 2012 में उसका कोर्ट मार्शल कर दिया गया।

बाबा घासीदास ने छत्तीसगढ़ को नई पहचान दी: राष्ट्रपति

वायुसेना मीडिया ऑपरेशंस के प्रमुख एन स्टेफानेक के मुताबिक, उन्हें 12 साल कैद की सजा सुनाई गई थी। हमले का उद्देश्य अभी स्पष्ट नहीं है। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी जो टेक्किट के मुताबिक कि यह कुछ ऐसा है, जो छोटे समुदायों में नहीं होता, लेकिन हमें आज पता चला है कि ऐसा होता है। पुलिस के मुताबिक, केली गिरजाघर में कत्लेआम कर बाहर निकला। इस दौरान उसका सामना एक शख्स से हुआ, जिसने भी गोलियां चलाईं। कार में बैठकर घटनास्थल से फरार हो रहे केली को गोली लगी, जिसके बाद केली की कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई। पुलिस को कार के भीतर केली का शव मिला। इस गोलीकांड में 26 मृतकों में से 23 के शव गिरजाघर के अंदर मिले, जबकि दो गिरजाघर के बाहर मिले। वहीं, एक शख्स ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।

महिला हॉकी: विश्व रैंकिंग में स्पेन को पछाडक़र शीर्ष-10 में भारत

राष्ट्रपति ट्रंप ने इस घटना को भयावह गोलीकांड बताया है। वह फिलहाल पांच देशों की यात्रा के पहले चरण के तहत जापान में हैं। ट्रंप ने इस हत्याकांड के बाद व्हाइट हाउस और सभी संघीय इमारतों से राष्ट्रध्वज को गुरुवार तक के लिए आधा झुकाने के निर्देश दिए हैं। ट्रंप ने कहा कि अमेरिकी वह करेंगे, जो हम बेहतर कर सकते हैं। हम एकजुट, एक साथ हाथ मिलाकर रहेंगे और इस दुख की घड़ी में भी टूटेंगे नहीं।

निकाय चुनाव के परिणामों से राजनीति की दिशा होगी निर्धारित: अखिलेश


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *