रणजी ट्रॉफी: आंध्र प्रदेश, मुंबई की सत्र की पहली जीत

रणजी ट्रॉफी: आंध्र प्रदेश, मुंबई की सत्र की पहली जीत



Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn

नई दिल्ली। आंध्र प्रदेश और मुंबई ने शनिवार को रणजी ट्रॉफी के इस सत्र में गु्रप-सी में अपनी पहली जीत दर्ज की है। आंध्र प्रदेश ने विजिनाग्राम में खेले गए मैच में मध्यप्रदेश को आठ विकेट से हराया। वहीं, मुंबई ने भुवनेश्वर में खेले गए मैच में ओडिशा को 120 रनों से परास्त किया।

भारत दूध में प्रथम, फल-सब्जी उत्पादन में दूसरे स्थान पर: राधा मोहन

आंध्र प्रदेश ने 65 रनों के आसान से लक्ष्य को दो विकेट खोकर हासिल करते हुए अपनी पहली जीत दर्ज की। मेजबान टीम ने श्रीकर भरत (6), डीबी प्रशांत (23) के रुप में दो विकेट खो। हनुमा विहारी 28 रनों पर नाबाद लौटे वहीं रिकी भुई ने नाबाद आठ रनों का योगदान दिया। इससे पहले पांच विकेट पर 67 के साथ दिन की शुरुआत करने वाली मध्यप्रदेश अपने खाते में 52 रन ही जोड़ सकी। सारांश जैन के रूप में उसने पहला विकेट खोया, लेकिन उसे बड़ा झटका तब लगा जब कप्तान देवेंद्र बुंदेला (38) पवेलियन लौट गए।

जो पहले विश्व बैंक में थे, अब भारत की रैंकिंग पर उठा रहे सवाल: मोदी

आंध्र प्रदेश ने मध्य प्रदेश को दूसरी पारी में 119 रनों पर ढेर कर दिया। जिसके बाद उसे 65 रनों का मामूली लक्ष्य मिला। इससे पहले मध्यप्रदेश ने अपनी पहली पारी में 321 रन बनाए थे। आंध्र प्रदेश ने इसके जबाव में अपनी पहली पारी में 376 का स्कोर खड़ा किया था। इस जीत के साथ आंध्र प्रदेश अपने गु्रप में मध्य प्रदेश को हटाकर पहले स्थान पर आई गई है। गु्रप-सी के एक और मैच में मुंबई ने ओडिशा पर आसान जीत दर्ज की। मुंबई ने मेजबान टीम के सामने 413 रनों का विशाल लक्ष्य रखा था जिसके सामने ओडिशा की टीम ढह गई और 292 रनों पर ही ऑल आउट हो गई। मुंबई के लिए धवल कुलकर्णी और आकाश पारकर ने तीन-तीन विकेट लिए।

ओजोन छेद 1988 के बाद सबसे छोटा: वैज्ञानिक

चौथे और आखिरी दिन चार विकेट के नुकसान पर 93 रनों से आगे खेलने उतरी ओडिशा के लिए गोविंद पोडार (87) और शांतानु मिश्रा (49) ने 90 रनों की साझेदारी की। इस जोड़ी को दिन के 22वें ओवर में अभिषेक नायर ने तोड़ा। यहां से ओडिशा की टीम लगातार विकेट खोती रही। उसके लिए अंत में सूर्यकांत प्रधान (32), बिपलब समांत्री (31), सौरव रावत (29) ने कुछ संघर्ष किया लेकिन हार को टाल नहीं सके।

ओजोन छेद 1988 के बाद सबसे छोटा: वैज्ञानिक

मुंबई ने पृथ्वी शॉ के शतक के दम पर अपनी पहली पारी में 289 रन बनाए थे और ओडिशा को पहली पारी में 145 रनों पर ढेर कर दिया था। अपनी दूसरी पारी नौ विकेट के नुकसान पर 268 रनों पर घोषित करते हुए मुंबई ने ओडिशा के सामने 413 रनों की विशाल चुनौती रखी थी। मुंबई के अब 10 अंक हो गए हैं और वह तीसरे स्थान पर आ गई है।

सेना की एम्बुलेंस लेकर भाग रहे जवान को कानपुर में पकड़ा गया


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *