प्रतिभा पलायन को रोकने के लिए व्यापक कदम उठाने की जरूरत: राज्यपाल  

प्रतिभा पलायन को रोकने के लिए व्यापक कदम उठाने की जरूरत: राज्यपाल  



Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn

लखनऊ। प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि भारत में प्रतिभा की कमी नहीं है। विदेशों में भारतीय चिकित्सक नए कीर्तिमान स्थापित कर रहे हैं। प्रतिभा पलायन को रोकने के लिए व्यापक कदम उठाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि विज्ञान का उपयोग सामान्य व्यक्ति के लाभ के लिए करें। चिकित्सा सेवा मानव जीवन की जरूरत है। इस क्षेत्र को कैसे अधिक उपयोगी बनाया जाए, इस पर विचार करना चाहिए। राज्यपाल ने आश्वासन दिया कि अधिवेशन में विचार विमर्श से जो महत्वपूर्ण निष्कर्ष निकलेंगे, यदि उसकी प्रति उन्हें प्राप्त होगी तो वे केन्द्र और राज्य सरकार तक उनकी बात पहुँचाने का प्रयास करेंगे।

विधायक की ही पत्नी के साथ ठगी, आठ जालसाज गिरफ्तार

स्वस्थ एवं रोगमुक्त जीवन के लिए नए उपचार एवं नई औषधियों पर दीर्घकालीन अनुसंधान की आवश्यकता

प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने गुरुवार को संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान में इंडियन सोसाइटी फॉर मेडिकल स्टेटिसटिक्स के 35वें वार्षिक अधिवेशन के उद्घाटन समारोह को सम्बोधित कर रहे थे।  उन्होंने कहा कि सांख्यिकी का जीवन के सभी क्षेत्रों में महत्व है, विशेषकर चिकित्सा के क्षेत्र में। चिकित्सकीय सांख्यिकी की शोध और जांच में अत्यन्त महत्वपूर्ण भूमिका है। चिकित्सकीय ज्ञान मात्र एक विषय पर आधारित नहीं है बल्कि जैव भौतिकी, जैव रासायन एवं जैव सांख्यिकी की भी आवश्यकता पड़ती है।

भट्ठा मजदूर की नाबालिग बेटी से सिपाही ने किया बलात्कार, गिरफ्तार

स्वस्थ एवं रोगमुक्त जीवन के लिए नये उपचार एवं नई औषधियों पर दीर्घकालीन अनुसंधान की आवश्यकता है। उन्हांने कहा कि अनुसंधान को वैज्ञानिक दृष्टि से संकलित करने में सांख्यिकी का महत्वपूर्ण योगदान होता है। उन्होंने कहा कि गुणवत्तापरक शोध के लिए चिकित्सा शिक्षा के अन्य संस्थानों को भी चिकित्सकीय सांख्यिकी का अनुसरण करना चाहिए। इससे पहले राज्यपाल ने अपने वक्तव्य से पूर्व एनटीपीसी में हुए हादसे पर दु:ख व्यक्त करते हुए दिवंगत आत्माओं की शांति एवं घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की।

फोन कर पहले प्रेमी बुलाया फिर प्रेमिका ने किया कुछ ऐसा कि आप रह जाएंगे दंग

इन्हें किया गया सम्मानित

राज्यपाल ने मेडिकल स्टेटिसटिक्स में लाइफ टाइम अचीवमेन्ट पुरस्कार 2015-16 प्रो सुन्दर राव तथा 2016-17 के लिए डॉ. राधाकृष्णन एवं फैलोशिप ऑफ सोसाइटी के लिए प्रो. वीके तिवारी को अंगवस्त्र, स्मृति चिन्ह एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर संस्थान के निदेशक प्रो राकेश कपूर, विशिष्ट अतिथि डॉ. ओमकार राय महानिदेशक, एसटीपीआई, प्रो. कुमार नायक, संस्थान के डीन डॉ. राजन सक्सेना सहित देश के अन्य प्रांतों से आए विशेषज्ञ एवं सोसाइटी के प्रतिनिधिगण उपस्थित थे। अधिवेशन में संस्थान के निदेशक प्रो. राकेश कपूर, प्रो. सीएम पांडेय अध्यक्ष इंडियन सोसायटी फॉर मेडिकल स्टेटिसटिक्स एवं महासचिव प्रो. एसके नायर सहित अन्य लोगों ने भी अपने विचार रखें। इस अवसर पर एक स्मारिका का भी विमोचन किया गया।

भट्ठा मजदूर की नाबालिग बेटी से सिपाही ने किया बलात्कार, गिरफ्तार


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *