जान का महत्व समझिए और हेलमेट लगाकर दुपहिया वाहन चलाइए

जान का महत्व समझिए और हेलमेट लगाकर दुपहिया वाहन चलाइए



Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn

गोला गोकर्णनाथ, खीरी। कोतवाली पुलिस ने यातायात माह में कार्यवाही करने के बजाय लोगों को जागरूक करने का काम शुरू कर दिया है। पुलिस क्षेत्राधिकारी के नेतृत्व में गुरूवार को नीलकंठ मैदान से हेलमेट लगाकर जागरूकता रैली निकाली गई। इस दौरान लोगों को यातायात नियमों के बारे में जागरूक किया गया।

यह भी पढ़ें : खीरी: चाकू की नोंक पर देवर ने भाभी से किया बलात्कार, गिरफ्तार

नवंबर माह पुलिस विभाग के लिए खास माह माना जाता है। इसे पुलिस विभाग यातायात माह के रूप में मनाता है। गुरुवार को पुलिसकर्मियों ने हेलमेट के प्रति जागरूकता वाहन रैली निकाली, जिसे सीओ अभिषेक प्रताप अजेय ने नीलकंठ मैदान में हरी झंडी दिखाकर रैली को रवाना किया। नीलकंठ मैदान से हेलमेट पहनकर पुलिसकर्मी बाइक चलाते हुए निकले। हेलमेट पहनकर वाहन रैली निकालने वाले पुलिसकर्मियों को देखने के लिए लोगों में उत्सुकता रही।

यह भी पढ़ें : गर्भवती युवती ने युवक पर लगाया शादी का झांसा देकर यौन शोषण का आरोप, गिरफ्तार

रैली में चल रहे पुलिसकर्मी लोगों को यातायात नियमों की जानकारी देते हुये हेलमेट पहनने के फायदे बता रहे थे। अभिषेक प्रताप अजेय ने कहा कि इस बार हम चालानी कार्रवाई पर भरोसा दिखाने के बजाय लोगों को जागरूक करने के लिए वाहन रैली निकाली है। इस रैली में जब पुलिस कर्मचारी हेलमेट लगाएंगे तो जनता भी उन्हें देखकर नियम का पालन करेगी।

यह भी पढ़ें : प्रेमी को पाने लिए प्रेमिका ने किया ऐसा कि 15 लोग आ गए लपेटे में

अभियान एक ही दिन चलकर समाप्त नहीं होगा बल्कि कुछ-कुछ दिनों के अंतराल से यह अभियान जारी रहेगा। उन्होनें कहा कि सडक हादसों के आंकडेे बताते हैं कि हेलमेट न पहनने के कारण कई लोग मौत का शिकार हुए हैं। इसके बाद भी सभी तथ्यों को दरकिनार कर लोग मनमानी कर रहे हैं । इस मौके पर प्रभारी निरीक्षक मधुकांत मिश्रा, एसआई नरेन्द्र सिंह, नरेन्द्र प्रताप सिंह, विपिन कुमार, नरेश कुमार, आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : video : होटल और ढाबों पर चल रहा था ये गंदा काम, चार युवतियों समेत 11 गिरफ्तार

पुलिस ने बताये यातायात के नियम

रैली निकाल रहे पुलिस कर्मचारियों ने सार्वजनिक स्थानों पर बाइकों को रोक-रोककर लोगों को ट्रैफिक नियमों से अवगत कराया। उन्हें बताया कि नियमों के पालन करने पर सडक हादसों में खासी कमी आएगी। वाहन चलाते समय, सडक क्रॉस करते समय व कहीं रूकने पर वाहन कहां खडे करें इस पर थोड़ा सा विचार किया जाए तो अनहोनी को टाला जा सकता है। लोगों को बताया गया यह प्रयास उनकी खुद की भलाई के लिए है। हेलमेट लगाने से भी खुद की ही सुरक्षा होती है। इसलिए अपनी जान का महत्व समझिए और हेलमेट लगाकर ही दोपहिया वाहन चलाइए।

यह भी पढ़ें : पत्नी को थी नए-नए मर्दों से रिश्ते बनाने की लत, इंजीनियर पति ने उठाया ये कदम


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *