यूपी: भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने वाले एडीजी का तबादला, जांच के आदेश

यूपी: भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने वाले एडीजी का तबादला, जांच के आदेश



Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn
एडीजी जसवीर सिंह

लखनऊ। प्रदेश की योगी भ्रष्टाचार को लेकर भले ही ‘ज़ीरो टॉलरेंस’ की बात कर रही हो, लेकिन जमीनी हकीकत इससे बिल्कुल अलग रही है। ताजा मामला प्रदेश के होमगार्ड विभाग में देखने को मिला, जहां एक एडीजी का सिर्फ इसलिए तबादला कर दिया गया, क्योंकि उन्होंने विभाग में फैले भ्रष्टाचार को आवाज उठाई थी। यही नहीं उन्होंने कार्रवाई की मांग को लेकर कमांडेंट जनरल को खत भी लिखा था, जिससे प्रदेश पुलिस विभाग में हडक़म्प मच गया। वहीं, खुलासा करने वाले एडीजी का तबादला कर दिया गया है। हालांकि मामले में महानिदेशक, होमगार्ड सूर्य कुमार शुक्ला ने जांच के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने एसएसओ सुनील कुमार को 15 दिन में जांच पूरी कर रिपोर्ट सौंपने को कहा है।

गौरतलब है कि होमगार्डस विभाग में भ्रष्टाचार को लेकर एडीजी जसवीर सिंह ने कमांडेंट जनरल डॉ. सूर्य कुमार को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की थी। पत्र में जसवीर सिंह ने कहा कि विभाग में अनुशासनहीनता, भ्रष्टाचार और अफसरों व कर्मचारियों की मनमानी के कई मामले सामने आए हैं, जिनमें तुरंत एफआईआर दर्ज होना ज़रूरी है। बताया जा रहा है कि महानिदेशक, होमगार्ड को पांच पत्र लिखे थे। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। उन्होंने खत में आरोप लगाया था कि विभाग में कुछ अफसरों व व्यक्तियों को नियमों को दरकिनार कर सरकारी गाडिय़ां आवंटित कर दी गई। इतना ही नहीं, इन गाडिय़ों को ईंधन भी विभाग की ओर से ही दिया जा रहा है।

एडीजी ने लिखा कि होमगार्ड्स मुख्यालय की परिवहन शाखा में भ्रष्टाचार इस कदर बढ़ गया है कि मुख्यालय के ड्राइवर अब कुछ अफसरों के परिवारों के निजी वाहन चला रहे हैं। उन्होंने खत में यह भी जिक्र किया था कि किस तरह प्रमुख सचिव होमगार्ड के निजी सचिव शिवराम के बेटे की प्राइवेट गाड़ी पर सरकारी ड्राइवर रामप्रकाश को तैनात किया गया है। मुख्यालय में तैनात एक क्लीनर विनय दुबे की हरकतों का भी जिक्र किया।

हुक्का बार में युवतियों से छेड़छाड़, दो पक्षों में जमकर मारपीट

बताया जा रहा है कि भ्रष्टाचार को लेकर एफआईआर दर्ज करने का लेटर एडीजी जसवीर सिंह ने 20 सितंबर को लिखा थी, जिसके बाद 25 अक्टूबर को उनका तबादला कर दिया गया। उन्हें अब सबसे महत्वहीन समझे जाने वाले एडीजी रूल्स मैन्युअल विभाग का एडीजी बनाया गया है।

ताजमहल पर विवादित पोस्ट करने वाले अमित जानी सहित दो गिरफ्तार

हालांकि मामले में महानिदेशक, होमगार्ड सूर्य कुमार शुक्ला ने जांच के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने एसएसओ सुनील कुमार को 15 दिन में जांच पूरी कर रिपोर्ट सौंपने को कहा है।

युवक ने वृद्धा से किया बलात्कार, मौत


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *