चुनौती के रूप में स्वीकार करें निकाय चुनाव : अखिलेश

चुनौती के रूप में स्वीकार करें निकाय चुनाव : अखिलेश



लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज नगर निगमों एवं निकाय चुनावों को महत्वपूर्ण बताते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वे इसे चुनौती के रूप में स्वीकार करें। समाजवादी पार्टी के पास अपनी शानदार उपलब्धियां हैं जबकि मुकाबला भाजपा के झूठ से है। समाजवादी सरकार ने पूरी ईमानदारी से जनता की सेवा की है जबकि भाजपा ने नफरत फैलाने के अलावा क्या किया है? उन्होंने कहा कि भाजपा के छल प्रपंच और झूठे वादों के प्रति मतदाताओं को सावधान करने का काम प्राथमिकता से करने की जरूरत है।

कानपुर वनडे : भारत ने कीवियों को हराकर सीरीज पर 2-1 से जमाया कब्जा

अखिलेश यादव रविवार को राज्य मुख्यालय में एकत्र पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। अखिलेश ने कहा कि भाजपा सरकार ने समाज के सभी वर्गों को धोखा दिया है। भाजपा ने एक भी नई योजना की शुरूआत नहीं की है बल्कि समाजवादी सरकार की जो जनहित की योजनाएं चालू थीं, उन्हें भी बंद करने का काम किया है। छोटे-छोटे उद्योगधंधे, कारोबार इस नोटबंदी और जीएसटी के शिकार बन गए हैं। बिजली आपूर्ति बाधित है।

मोबाइल देने पर प्रेमिका के परिजनों ने प्रेमी को दी ऐसी शर्मनाक सजा….

प्रदूषण पर कोई रोक नहीं है। शहरों में भी मूलभूत सुविधाओं तक का अभाव है। उन्होंने कहा कि मंहगाई, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी और सश्र के दुरूपयोग से क्षुब्ध जनता की उम्मीदें जवाब दे गई है। भाजपा सरकारों ने समाज के हर वर्ग को पीड़ा पहुंचाई है। किसान, व्यापारी, वकील, नौजवान, छात्र, महिलाएं, श्रमिक, अल्पसंख्यक सभी इनकी कुनीतियों के शिकार है। विकास कार्य ठप्प हैं। हर वर्ष 2 करोड़ नौकरियां देने का वादा करने वाली भाजपा ने तीन वर्ष में एक लाख नौकरी भी नहीं दी। शिक्षामित्र, आंगनबाड़ी कार्यकत्री सब का उत्पीडऩ किया गया है और अगर जो भी पीडि़त वर्ग अपने साथ हो रहे अन्याय को सुनाने राजधानी आया है उसको अपमानित किया गया और उन निहत्थों पर लाठियां बरसाई गई।

युवती की नृशंश हत्या, खेत में फेंका शव

इस मौके पर नेता विरोधी दल विधानसभा रामगोविन्द चौधरी, नेता प्रतिपक्ष विधान परिषद अहमद हसन, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल, पूर्वमंत्री राजेंद्र चौधरी एवं नरेंद्र वर्मा, विधायक एसआरएस यादव तथा जावेद आब्दी आदि भी मौजूद थे।

पुलिस अधिकारी सेवानिवृत्त के बाद भी सामाजिक सक्रियता बनाये रखें: राम नाईक


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *