पुलिस अधिकारी सेवानिवृत्त के बाद भी सामाजिक सक्रियता बनाये रखें: राम नाईक

पुलिस अधिकारी सेवानिवृत्त के बाद भी सामाजिक सक्रियता बनाये रखें: राम नाईक



प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक

लखनऊ। प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने सेवानिवृत्त पुलिस अधिकारियों से अपील की है कि सामाजिक जीवन में सक्रिय बने रहें। उन्होंने पीपीएस संवर्ग के सेवानिवृत्त अधिकारियों द्वारा समाज के भले के लिए किये जा रहे कार्यों की तारीफ भी की। राज्यपाल ने कहा कि पुलिस सेवा समाज की दृष्टि से महत्वपूर्ण सेवा है। नागरिकों की सुरक्षा तथा कानून एवं व्यवस्था को बनाए रखने की महत्वूपर्ण जिम्मेदारी का निर्वहन पुलिस विभाग के अधिकारियों द्वारा किया जाता है। इसलिए पुलिस विभाग सामाजिक व्यवस्था की रीढ़ की हड्डी है।

सबसे तेज 9000 रन बनाने वाले बल्लेबाज बने कोहली

राज्यपाल रविवार को पीपीएस (सेवानिवृत्त) आफिसर्स वेलफेयर एसोसिएशन के 9वें वार्षिक अधिवेशन को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सेवानिवृत्ति समस्या न बने इसलिए आप सभी लोग सामाजिक जीवन में सक्रिय बने रहें। उन्होंने कहा कि जीवन में आगे बढऩे के लिए जागृत एवं सक्रिय रहना पड़ता है। शरीर को स्वस्थ एवं मन को शांत रखने के लिए नियमित रूप से व्यायाम एवं योग करते रहे तथा सामाजिक संगठनों में सक्रियता से भाग लें।

विदेशी जोड़े पर हमले में 50 से ज्यादा गिरफ्तार

राज्यपाल ने अपना उदाहरण देते हुए कहा कि यदि मैं नौकरी करता तो आज मैं भी रिटायर हो गया होता, क्योंकि मेरी उम्र भी 83 वर्ष है। उन्होंने कहा कि हम सभी का जीवन मोटर कार की बैटरी जैसा है, जितनी गाड़ी चलेगी उतनी ही बैटरी चार्ज होती रहेगी। इसलिए मैं आज भी काम करता हूँ। काम करने से शरीर भी स्वस्थ रहता है। राज्यपाल ने कहा कि कई प्रकार के दान होते हें जैसे रक्तदान, देहदान, नेत्रदान। इसी प्रकार सेवादान भी है। सेवादान करके अपने सार्वजनिक जीवन में आगे बढ़ते रहिए। यह सामाजिक प्रगति का लक्षण है कि औसत मृत्यु आयु में वृद्धि हो रही है।

डीसीएम का डाला खुलकर गिरने से युवक की मौके पर मौत

नाईक ने इस अवसर पर एसोसिएशन द्वारा असाधारण पेंशन के पुनरीक्षण संबंधी नियमों में संशोधन एवं संशोधित वेतनमान के अनुसार एरियर के भुगतान विषय पर मुख्यमंत्री से शीघ्र विचार विनिमय करने का आश्वासन दिया। उन्होंने नन्दलाल सिंह को पेंशन की स्वीकृति एवं सेवानिवृत्त पुलिस उपाधीक्षक धीरज सिंह की बकाया पेंशन की धनराशि पर चक्रवृद्धि ब्याज देने के उच्च न्यायालय के निर्णय को गंभीरता से पालन करने के लिए पुलिस महानिदेशक को निर्देश दिया। इस दौरान पुलिस महानिदेशक सुलखान सिंह ने रिटायर्ड पुलिस अधिकारियों के लंबित समस्याओं के शीघ्र निराकरण का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि भर्ती पुलिस कर्मियों के प्रशिक्षण के लिए भी रिटायर्ड पुलिस अधिकारियों का सहयोग लिया जाएगा तथा सम्मानजनक मानदेय के साथ-साथ उनके आने-जाने की भी उचित व्यवस्था की जाएगी।

डीसीएम का डाला खुलकर गिरने से युवक की मौके पर मौत


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *