महिलाओं की सामाजिक-आर्थिक तरक्की को प्राथमिकता में रखती है समाजवादी पार्टी : अखिलेश

महिलाओं की सामाजिक-आर्थिक तरक्की को प्राथमिकता में रखती है समाजवादी पार्टी : अखिलेश



लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि भारत में महिलाएं सबसे ज्यादा गरीब और पिछड़ी हुई हैं। यह भी सच है कि महिलाओं से ही घर-परिवार संवरता है। इसलिए जब तक महिला आगे नहीं बढ़ेगी तब तक देश भी आगे नहीं बढ़ेगा। समाजवादी पार्टी महिलाओं की सामाजिक-आर्थिक तरक्की को प्राथमिकता में रखती है और इसके लिए बारबार संघर्ष करती रहेगी। गरीब महिलाओं का हर तरह से आर्थिक सहयोग किया जाएगा। संगठन में और सरकार बनने पर सरकार में भी उनको उचित सम्मान देने के लिए संकल्पित हैं।

मुख्यमंत्री योगी के नाम सुसाइड नोट लिख किसान ने फांसी लगाई

 

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव शनिवार को पार्टी मुख्यालय में महिला ऐक्टविस्ट रंजना वर्मा के साथ आई समाजवादी पेंशन से वंचित गरीब महिलाओं को सम्बोधित कर रहे थे। अखिलेश ने कहा कि समाजवादी सरकार में महिलाओं के सम्मान और सुरक्षा के लिए अभिनव प्रयास किए गए थे। उनके अच्छे स्वास्थ्य और शिक्षा के लिए विशेष व्यवस्थाएं की गई थी। उनको सुरक्षा देने के लिए 1090 वूमेन पावर लाइन, यूपी 100 पुलिस डायल सेवा के साथ प्रसूताओं को अस्पताल लाने ले जाने के लिए 102 नं0 एम्बूलेंस सेवा चालू की गई थी। कन्याविद्याधन, लैपटाप वितरण के साथ उनको लक्ष्मीबाई पुरस्कार भी दिए गए थे। खेलकूद में मेडल लाने वाली लड़कियों को नकद पुरस्कार और नौकरी दी गई।

देश में कुछ ऐसे लोग हैं जो देश विरोधी नारों का करते हैं समर्थन : योगी

अखिलेश यादव ने कहा कि गरीब महिलाओं के लिए समाजवादी सरकार ने सबसे बड़ी योजना समाजवादी पेंशन योजना लागू की थी। इससे 55 लाख महिलाओं को 500 रूपए पेंशन मिलने लगी थी। भाजपा सरकार ने आते ही इसे बंद कर दिया। इससे गरीब महिलाओं की जिंदगी दूभर हो गई है। समाजवादी सरकार रहती तो पेंशन राशि ब?ाकर एक हजार रूपए प्रतिमाह देने की व्यवस्था की जाती।

भारतीय गिद्ध की चार प्रजातियां वैश्विक संरक्षण सूची में शामिल

अखिलेश ने इस बात पर चिंता और क्षोम व्यक्त किया कि भाजपा की सरकार बनते ही बलात्कार, लूट, और अपहरण की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। बच्चियों तक से दुष्कर्म हो रहा है। महिलाओं का सम्मान और सुरक्षा खतरे में है। आंगनवाड़ी और रसोइयां महिलाओं के साथ अपमान जनक व्यवहार किया गया। अखिलेश ने कहा कि 99 प्रतिशत वे गरीब महिलाएं जो समाजवादी पेंशन से अपना घर चला रही थीं वे अब असहाय जिंदगी जीने को मजबूर हैं।

सम्पूर्णानन्द विश्वविद्यालय में शैक्षणिक एवं गैर शैक्षणिक पदों की भर्ती पर लगी रोक

इस अवसर पर पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किरनमय नंदा, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पाण्डेय, पूर्व मंत्री राजेंद्र चैधरी, एमएलसी राजेश यादव तथा दीपराज यादव, भूपेंद्र यादव, शैलेष आदि भी मौजूद थे।

आईएएस सदाकांत पर भ्रष्टाचार के आरोप में केन्द्र सरकार पर नरमी बरतने का आरोप


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *