देश में कुछ ऐसे लोग हैं जो देश विरोधी नारों का करते हैं समर्थन : योगी

देश में कुछ ऐसे लोग हैं जो देश विरोधी नारों का करते हैं समर्थन : योगी



लखनऊ। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि देश में कुछ ऐसे लोग हैं, जिन्हें भारत की एकता पसंद नहीं है। वह राजनीतिक लाभों के लिए संस्कृति पर हमला करने में बिल्कुल संकोच नहीं करते हैं। साथ ही देश विरोधी नारों का समर्थन करते हैं। जबकि उनको समझना चाहिए कि भारत संस्कृतिक रूप से पहले भी एक था और आज भी एक है।

मुख्यमंत्री योगी के नाम सुसाइड नोट लिख किसान ने फांसी लगाई

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में आरएसएस के मुख्यपत्र पांचजन्य के आयोजित उद्घाटन समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत कोई जमीन का टुकड़ा नहीं है जो उसको अलग कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि भारत एक जीवित राष्ट्र है। उसके माथे पर हिमालय, छाती पर गौरी-शंकर, रीढ़ कश्मीर, पंजाब व पश्चिम बंगाल दो कंधे, पूर्वी व पश्चिमी घाट दो जांघ और कन्याकुमारी पैर हैं। सीएम योगी ने कहा है कि भारत की मूल विचारधारा ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ और ‘सर्वे भवन्तु सुखिन:’ की रही है, जो विश्व मानवता के कल्याण की सुरक्षा से ओत-प्रोत है। उन्होंने कहा कि सभ्यताओं और संस्कृतियों के संघर्ष के औजार मात्र अस्त्र-शस्त्र ही नहीं, बल्कि विचारधाराएं भी हैं। जो देश व समाज अपनी मूल विचारधारा को छोड़ देते हैं, उनकी पहचान मिट जाती है और जो आदर्शों, मूल्यों और सांस्कृतिक विचार प्रवाह को साथ लेकर चलते हैं, उनका अस्तित्व बना रहता है।

भारतीय गिद्ध की चार प्रजातियां वैश्विक संरक्षण सूची में शामिल

योगी ने कहा कि भारत की सांस्कृतिक एकता का उदाहरण आदिशंकराचार्य द्वारा स्थापित किये गये चारपीठ हैं, जो पूरे राष्ट्र को एकता के सूत्र में बांधते हैं। इस सांस्कृतिक एकता और मूल विचारधारा को बनाये रखते हुए इसकी वैचारिक लड़ाई को कमजोर नहीं होने देना है। उन्होंने कहा कि आज बड़े पैमाने पर सकारात्मक और नकारात्मक प्रवृत्तियों का संघर्ष व द्वन्द्व दिखायी देता है। नकारात्मक प्रवृत्तियां आतंकवाद, अलगाववाद तथा नक्सलवाद आदि के रूप में हैं, जबकि सकारात्मक प्रवृत्ति के रूप में भारत के सांस्कृतिक वैचारिक प्रवाह का नेतृत्व पांचजन्य जैसे पत्र कर रहे हैं।

आईएएस सदाकांत पर भ्रष्टाचार के आरोप में केन्द्र सरकार पर नरमी बरतने का आरोप

इस अवसर पर मौजू राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल ने कहा कि आजादी के बाद सत्ता अहंकारी लोगों के पास चली गई थी। जो केवल कल्पना में ही सत्ता चलाते रहे, वह वास्तविकता से पूरी तरह से दूर थे।

चोरों ने घर में घुसकर की लाखों का माल उड़ाया


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *