फर्जी दस्तावेजों के साथ मुरादाबाद से पकड़ा गया आतंकी फरहान अहमद

फर्जी दस्तावेजों के साथ मुरादाबाद से पकड़ा गया आतंकी फरहान अहमद

आतंकी फरहान अहमद अली पुत्र मुस्ताकर अहमद अली मुरादाबाद में थाना मुगलपुरा के बरबलान में मौलवी वाली मस्जिद के पास किराए का मकान लेकर रह रहा था।


Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn

आतंकी फरहान अहमद अली पुत्र मुस्ताकर अहमद अली मुरादाबाद में थाना मुगलपुरा के बरबलान में मौलवी वाली मस्जिद के पास किराए का मकान लेकर रह रहा था।

मुरादाबाद। गोधरा कांड में आरोपी रह चुका और पोटा का सजायाफ्ता आतंकी फरहान अहमद अली को मुरादाबाद पुलिस ने जाली पासपोर्ट व अन्य दस्तावेजों के साथ थाना मुगलपुरा क्षेत्र से गिरफ्तार किया है। पकड़े गए संदिग्ध आतंकी से एटीएस और आईबी पूछताछ कर रही हैं। गिरफ्तार किया गया आतंकी फरहान अहमद अली मूलरूप से शोहरतगढ़ सिद्धार्थ नगर का रहने वाला है। वह लश्कर का सक्रिय सदस्य है।

यूपी: तीन चरणों में होगा निकाय चुनाव, एक दिसम्बर को होगी मतगणना

उसके खिलाफ वर्ष 2002 में नई दिल्ली की स्पेशल सेल ने धारा 4ए, बी तथा पांच पोटा में मामला दर्ज किया था। इस मामले में छह अगस्त 2007 को कोर्ट ने 07 साल की सजा व 25 हजार रूपये के जुर्माने लगाया था। 2009 में दिल्ली हाईकोर्ट से वह जमानत पर छूट गया। कोर्ट ने उसका पासपोर्ट जब्तीकरण के साथ विदेश जाने पर रोक लगाई थी। इसके बाद वह मुरादाबाद में एकता विहार व मुगलपुरा के बरबालान में रह रहा था।

मुख्यमंत्री से मिलने तमंचा लेकर पहुंचा युवक, गिरफ्तार

इसके बाद आतंकी फरहान अहमद अली पुत्र मुस्ताकर अहमद अली मुरादाबाद में थाना मुगलपुरा के बरबलान में मौलवी वाली मस्जिद के पास किराए का मकान लेकर रह रहा था। जिसके गुरूवार शाम पुलिस ने सूचना के आधार पर गिरफ्तार कर लिया। उसके कब्जे से दो फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस मिले, जिसमें फोटों उसके लगे है, लेकिन इसमें से एक डीएल पर उसके भाई इमरान का नाम लिखा है। यही नहीं पता भी अलग-अलग है। इन्ही डीएल के जरिए गिरफ्तार आतंकी ने फर्जी राशन कार्ड  पासपोर्ट, मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड, पैनकार्ड बनवाये हैं।

यूपी बोर्ड परीक्षा की समय सारणी जारी, छह फरवरी से होगी परीक्षाएं

मुरादाबाद के एसएसपी डा प्रीतिंदर सिंह ने बताया कि पकड़े गए आतंकी फरहान के खिलाफ वर्ष 2002 में गुजरात राज्य के अहमदाबाद सिटी में भी राष्ट्र विरोधी क्र्रियाकलापों के संबंध में मामला दर्ज होने का मामला सामने आया है। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार फरहान वर्ष 2009 से जमानत के बाद अपनी पहचान छिपाकर मोहल्ला बरबलान में किराये पर मकान लेकर छिपकर रह रहा था। यहां उसने जालसाजी कर फर्जी फर्जी पासपोर्ट बनवाया। इसी फर्जी पासपोर्ट के आधार पर वह कुवैत भी हो आया। उसका परिवार कुवैत में बताया जाता है।

मुख्यमंत्री योगी की सोशल मीडिया पर डाली आपत्तिजनक तस्वीर, सात मुस्लिम युवक नामजद

उन्होंने बताया कि बरबलान थाना मुगलपुरा से पहले यह अपराधी थाना कटघर क्षेत्र के एकता बिहार में किराये का मकन लेकर रह रहा था। एसएसपी ने बताया आरोपी के खिलाफ 12 पासपोर्ट अधिनियम, धोखाधड़ी समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया है। इसकी गिरफ्तार सूचना एटीएस व आईबी को दी गई। एटीएस व आईबी की टीम ने आरोपी से मुरादाबाद पहुंचकर पूछताछ की। इसके अलावा फरहान से मिलने जुलने वालों के बारे में भी जांच की जा रही है। दिल्ली और अहमदाबाद से भी उसका आपराधिक रिकार्ड खंगाला जा रहा है।

छत्तीसगढ़ सीडी मामला: पत्रकार विनोद वर्मा गिरफ्तार

उधर पूछताछ में पता चला है कि आतंकी फरहान बरबालान में ईंट भ_ा मालिकर बनकर किराए के मकान में रह रहा था और यहां से लस्कर-ए-तैय्यबा का नेटवर्क संचालित कर रहा था। फरहान के मकान मालिक शकील ने बताया कि फरहान ने खुद को ईंट भ_ा का मालिक बताता था। वह यहां पत्नी शकीना के साथ रहता था। उससे आने-जाने वाले लोग भी लग्जरी गाडिय़ों से ही आते थे।

यूपी बोर्ड परीक्षा की समय सारणी जारी, छह फरवरी से होगी परीक्षाएं

फरहान से मिलने आने वाले लोग कौन-कौन थे। पुलिस ने उसके मोबाइल व लैपटाप के जरिए नेटवर्क को खंगालना शुरू कर दिया है। एटीएस के सूत्रों के मुताबिक जल्द ही आतंकी फरहान के साथियों की धरपकड़ की जाएगी।


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *