देश के सामाजिक मूल्यों को खोखला कर रही यौन हिंसा की बढ़ती महामारी : सत्यार्थी

देश के सामाजिक मूल्यों को खोखला कर रही यौन हिंसा की बढ़ती महामारी : सत्यार्थी

बच्चों और उनके परिवारों को सही समय पर न्याय दिलाने के लिए यौन शोषण के मामलों में फैसले की न्यायालयीन प्रक्रिया को कम समय में पूरा करने की जरूरत


बच्चों और उनके परिवारों को सही समय पर न्याय दिलाने के लिए यौन शोषण के मामलों में फैसले की न्यायालयीन प्रक्रिया को कम समय में पूरा करने की जरूरत

देश के सामाजिक मूल्यों को खोखला कर रही यौन हिंसा की बढ़ती महामारी : कैलाश सत्यार्थी

सुनील श्रीवास्तव

बिझौली, खीरी। नोबल शांति पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने कहा कि बच्चों के साथ किसी भी तरह की घटना होने पर माता-पिता बोलने से बचते हैं और इसकी सजा बच्चों को भुगतना पड़ती है। इसलिए जरूरी है कि पालक जागरूक हों और किसी तरह की शंका, घटना को सही समय पर पुलिस तक पहुंचाएं। उन्होंने कहा कि अनैतिकता और यौन हिंसा की बढ़ती महामारी देश के सामाजिक मूल्यों को खोखला कर रही है, जिसके खिलाफ खड़े होने का वक्त आ गया है। कहा कि नारी शक्ति सम्मान और बालिका सुरक्षा महत्वपूर्ण है।

यह भी पढ़ें: करवाचौथ: सुहागिनों ने चांद देखकर तोड़ा व्रत, पति की दीर्घायु के लिए ईश्वर से की कामना

नोबल शांति पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी रविवार को कस्बा रजागंज में यात्रा को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बच्चों और उनके परिवारों को सही समय पर न्याय दिलाने के लिए यौन शोषण के मामलों में फैसले की न्यायालयीन प्रक्रिया को कम समय में पूरा करने की जरूरत है। शोषण के बाद अगर किसी बच्ची को गर्भ ठहर जाता है तो शिकायत से लेकर फैसला होने तक में देरी के चलते गर्भपात का समय निकल जाता है। जरूरी है कि शीघ्रता के साथ निराकरण हो। इससे पहले ‘सुरक्षित बचपन, सुरक्षित भारत’ यात्रा की आगवानी करनपुर के पास राज्य सभा सांसद रवि वर्मा, पूर्व विधायक रामसरन, जिला पंचायत सदस्य महेश चंद्र कनौजिया, मोहम्मद अयाज आदि ने ‘बच्चों के हक़’ सम्बन्धी नारे लगाते हुए की। यात्रा का स्वागत करते हुए पूर्व विधायक रामसरन ने कहा कि बच्चों का बचपन लौटाओ, मानवता का अस्तित्व बचाओ। वहीं जिला पंचायत सदस्य महेश चंद्र कनौजिया ने कहा कि शिक्षा, रोटी, प्यार दो, बच्चों का अधिकार दो। उन्होंने कहा कि उनके परिवार और सामाजिक वातावरण पर भी सोचने की जरूरत है। बच्चों के हित में एक साथ आवाज उठाने की जरूरत है।

यह भी पढ़ें: सुरक्षित बचपन से ही सुरक्षित भारत का होगा निर्माण : रवि वर्मा

मंच का संचालन करते हुए जनमेजय यादव ने कहा कि तुम जन गण मन अधिनायक हो तुम हंसो कि फले-फूले देश, आओ सिंघासन पर बैठो, यह राज तुम्हारा है अशेष। इस मौके पर नियामत अली, अयाज खां, गोकुल प्रसाद, विरपाल, शिवदर्शन लाल वर्मा,आदित्येन्द्र सिंह, हारिपाल सिंह, रामेश्वर सिंह, अरुण सिंह, गेंदनलाल, प्रधान पूर्व प्रधान राजेश वर्मा, मिंटू इमरान लाल  प्रधान रामबहादुर, संतराम वर्मा, सुनील कुमार, राम चन्द्र, जिला पंचायत सदस्य लल्लन वर्मा, पंकज वर्मा, पूर्व जिलापंचायत सदस्य अशोक कनौजिया, पूर्व जिला पंचायत सदस्य शशि वर्मा, पवन वर्मा, विनय शुक्ल, डॉ. अमर सिंह, उमेश वर्मा, पंकज सिंह चन्द्रिका प्रसाद, पूर्व प्रधान राकेश वर्मा, बबलू वर्मा भानु, अलीम खां, संतोष भार्गव, उत्तम वर्मा, वीरेंद्र कुमार, दिनेश यादव काले कोटेदार समेत हजारों लोगों मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: बच्चों का बचपन सुरक्षित करना सभी की नैतिक जिम्मेदारी: कैलाश सत्यार्थी


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *