देश में जानवरों से कम कीमत पर बिकते हैं बच्चे: सत्यार्थी

देश में जानवरों से कम कीमत पर बिकते हैं बच्चे: सत्यार्थी

सत्यार्थी ने कहा कि समाज में जागृति लाने की जरूरत है। इसके लिए सभी को आगे आना होगा। धार्मिक स्थलों से ज्ञान की बातें तो कहीं जाएं साथ ही बच्चों से दुराचार करने वालों को समाज से बहिष्कृत किए जाने का भी ऐलान होना चाहिए।


सत्यार्थी ने कहा कि समाज में जागृति लाने की जरूरत है। इसके लिए सभी को आगे आना होगा। धार्मिक स्थलों से ज्ञान की बातें तो कहीं जाएं साथ ही बच्चों से दुराचार करने वालों को समाज से बहिष्कृत किए जाने का भी ऐलान होना चाहिए।

लखीमपुर पहुचे नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी

लखीमपुर खीरी। सुरक्षित बचपन सुरक्षित भारत कार्यक्रम में शिरकत करने लखीमपुर पहुचे नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने कहा कि हमारे देश में बच्चे जानवरों से भी कम कीमत पर बिकते हैं। सुरक्षित बचपन सुरक्षित भारत यात्रा समाज से बाल हिंसा के कलंक को खत्म करने के लिए आयोजित की जा रही है।यह भी पढ़ें: अमीर और गरीब महिला की इज्जत बराबर : राज्यपाल

गुरूनानक इंटर कॉलेज में आयोजित कार्यक्रम में सत्यार्थी ने एक वाकया सुनाकर सभी को हैरत में डाल दिया। उन्होंने बताया मैं एक बार बच्चों को मुक्त कराने गया और बच्चों से पूछा कि तुम्हें कितने कितने में बेचा गया है तो किसी ने दस किसी ने पन्द्रह हजार रुपए बताया। इसी दौरान एक बोला कि हमारे यहां तो भैंस भी एक से डेढ़ लाख की बिकती है। सत्यार्थी ने आगे कहा इस घटना ने यह साबित कर दिया कि हमारे देश में बच्चों की कीमत जानवरों से भी कम है।

यह भी पढ़ें: बच्चों को दी मिशन इन्द्रधनुष कार्यक्रम की जानकारी

सत्यार्थी ने कहा कि समाज में जागृति लाने की जरूरत है। इसके लिए सभी को आगे आना होगा। धार्मिक स्थलों से ज्ञान की बातें तो कहीं जाएं साथ ही बच्चों से दुराचार करने वालों को समाज से बहिष्कृत किए जाने का भी ऐलान होना चाहिए। सत्यार्थी ने बताया कि यह यात्रा समाज से बाल हिंसा के कलंक को खत्म करने के लिए आयोजित की जा रही है। यह यात्रा 11 सितंबर से शुरू हुई है और देश के 22 राज्यों से होते हुए करीब 11 हजार किलोमीटर की दूरी तय करेगी यात्रा का समापन 16 अक्टूबर को राष्ट्रपति भवन में होगा।

यह भी पढ़ें: अपने आस-पास के वातावरण को स्वच्छ रखने में सहयोग करें: सीपी वर्मा


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *