राम रहीम की मुंह बोली बेटी हनीप्रीत को आखिरकार पुलिस ने कर लिया गिरफ्तार

गुरमीत राम रहीम की मुंह बोली बेटी हनीप्रीत को आखिरकार पुलिस ने कर लिया गिरफ्तार



गुरमीत राम रहीम सिंह की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत इंसां

चंडीगढ़। साध्वियों से बलात्कार के मामले में जेल की सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत इंसां को एक अन्य महिला के साथ आखिरकार मंगलवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया। उसे बुधवार को हरियाणा के पंचकूला की अदालत में पेश किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : भौतिकी का नोबेल गुरुत्वाकर्षण तरंगों की खोज के लिए

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने न्यूज एजेंसी को बताया कि उसे पंजाब के जिरकापुर-पटियाला राजमार्ग पर टोयोटा गाड़ी में अपनी एक सहायिका के साथ गिरफ्तार किया गया। पुलिस हनीप्रीत को पिछले एक महीने से ढूंढ रही थी और उसकी तलाश में नेपाल, राजस्थान, बिहार और हरियाणा में छापे मार रही थी।

यह भी पढ़ें : विजय माल्या लंदन में गिरफ्तार, जमानत मिली

पंचकूला के पुलिस आयुक्त एएस चावला ने हनीप्रीत की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए संवाददाताओं को बताया कि हनीप्रीत को बुधवार को अदालत में पेश किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : एलओसी पर पाकिस्तानी गोलीबारी में सैनिक शहीद

एसआईटी टीम ने की गिरफ्तारी

एक अन्य पुलिस अधिकारी ने कहा कि डेरा सच्चा सौदा संप्रदाय के प्रमुख की गिरफ्तारी के बाद भडक़ी हिंसा की जांच के लिए गठित की गई विशेष जांच दल (एसआईटी) टीम की अध्यक्षता करने वाले सहायक पुलिस आयुक्त मुकेश मल्होत्रा ने उन्हें गिरफ्तार किया है। अधिकारी ने कहा कि जिस इलाके से हनीप्रीत को गिरफ्तार किया गया है, वो पंजाब में आता है, और हमने पंजाब में अपने समकक्षों को उनकी हिरासत के बारे में सूचना दे दी है। हनीप्रीत ने आत्मसमर्पण की बात को खारिज करते हुए चावला ने कहा कि यह आत्मसर्मपण नहीं है, बल्कि गिरफ्तारी है। उन्होंने कहा कि हमें 25 अगस्त को पंचकूला में भडक़ी हिंसा में उनकी भूमिका की जांच करने की जरूरत है, जिसके बाद ही हम उनकी पुलिस रिमांड की मांग करेंगे।

यह भी पढ़ें : कोयला आवंटन मामला: ईडी ने केएसएसपीएल की 32 करोड़ की संपत्ति जब्त की

एक निजी चैनल को दिया था साक्षात्कार

बता दें कि सोमवार को एक निजी चैनल को दिए साक्षात्कार में हनीप्रीत ने कहा था कि वह पंचकूला की अदालत में आत्मसर्मपण करेगी। उसने चंडीगढ़ में पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय में जमानत याचिका दायर करने की भी बात कही थी। यही नहीं, हनीप्रीत ने अपने ऊपर लगे आरोपों को ’बेबुनियाद’ बताया था। हनीप्रीत ने समाचार चैनल को बताया कि उसे देशद्रोह के झूठे मामले में फंसाया जा रहा है। उसने कहा कि वह अदालत में सजा सुनाए जाने के बाद अपने  पिता (राम रहीम) के साथ जेल तक बेटी की तरह गई थी। इसके लिए सरकार की सहमति भी ली गई थी।

यह भी पढ़ें : चार दिवसीय टेस्ट: इंडिया-ए ने पारी और 26 रन से जीता मैच

अग्रिम जमानत याचिका कोर्ट कर दी थी खारिज

इससे पहले दिल्ली उच्च न्यायालय ने 26 सितंबर को उनकी अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी थी। न्यायमूर्ति संगीता ढींगरा सहगल ने हनीप्रीत की याचिका पर फैसला सुनाया था और कहा था, हरियाणा में हनीप्रीत को गिरफ्तारी से बचा जा रहा है। साथ ही उसने हरियाणा में अपनी जिंदगी को खतरा बताया था। अदालत ने कहा था, इस मामले में तथ्यों और परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए कि याची (हनीप्रीत) अब तक गिरफ्तारी से बच रही है, जिसको देखते हुए विवेकाधीन राहत नहीं दी जानी चाहिए। बता दें कि पंचकूला में एक अदालत ने पिछले महीने डेरा के मुख्य कार्यकारियों हनीप्रीत, आदित्य इंसां और पवन इंसां के खिलाफ गिरफ्तारी वांरट जारी किया था। हरियाणा पुलिस ने इन तीनों पर देशद्रोह, हिंसा भडक़ाने और डेरा प्रमुख को सीबीआई द्वारा 25 अगस्त को 1999 में दो शिष्याओं के साथ दुष्कर्म के मामले में दोषी ठहारए जाने के बाद उसे भगाने की साजिश रचने का मामला दर्ज किया है।

यह भी पढ़ें : इंडोनेशिया में जनवरी में होगा अंतर्राष्ट्रीय बैडमिंटन टूर्नामेंट

हिंसा में 38 लोग मारे गए थे

बता दें कि साध्वियों से बलात्कार को दोषी ठहराते हुए सीबीआई आदालत ने गुरमीत राम रहीम को 20 साल के कठोर कारावास और 30 लाख रुपए के जुर्माने की सजा सुनाई गई है। गुरमीत राम रहीम के दोषी ठहराए जाने के बाद हरियाणा समेत पांच राज्यों में हिंसा भडक़ गई थी, जिसमें 38 लोग मारे गए थे। जबकि 264 लोग घायल हुए थे।

यह भी पढ़ें : शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स 214 अंक चढ़ा


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *