मोहर्रम: यूपी में कई जगह साम्प्रदायिक बवाल, आगजनी, एसपी सहित कई पुलिसकर्मी घायल

मोहर्रम: यूपी में कई जगह साम्प्रदायिक बवाल, आगजनी, एसपी सहित कई पुलिसकर्मी घायल



Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn

लखनऊ। मोहर्रम और मूर्ति विसर्जन को लेकर प्रदेश की कानून व्यवस्था संभालने के लिए पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। प्रदेश के कानपुर, बलिया के सिकंदरपुर, कुशीनगर, इलाहाबाद, संभल, पीलीभीत, गोंडा, अम्बेडकरनगर में मोहर्रम के जुलूस के दौरान दो पक्षों के बीच जमकर भिडं़त हुई। इसके बाद आगजनी, हिंसा, तोडफ़ोड़ की गई। पुलिस को भी अराजकतत्वों का शिकार होना पड़ा, जिसमें पुलिसकर्मी समेत तमाम लोग घायल हुए।

यह भी पढ़ें : मोदी सरकार ने एक भी वादा पूरा नहीं किया: अखिलेश

जानकारी के अनुसार, कानपुर में जूही थाना क्षेत्र के परमपुरवा और रावतपुर गांव में मोहर्रम का जुलूस ले जाने को लेकर दो पक्षों में बवाल हो गया। अराजकतत्वों ने जमकर तोडफ़ोड़ की, पुलिस के वाहन क्षतिग्रस्त किए, दुकानों और वाहनों को आग के हवाले कर दिया। अराजकतत्वों पर नियंत्रण पाने के लिए पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। पुलिस लोगों को शांत कराने का प्रयास ही कर रही थी कि अराजकतत्वों ने पत्थरबाजी शुरू कर।

 

इस दौरान एसपी समेत कई पुलिसकर्मी और दोनों पक्षों के करीब एक दर्जन लोग घायल हुए। वहीं, कल्याणपुरके रावतपुर में धार्मिक पोस्टर फाड़े जाने को लेकर बवाल मचा। इस दौरान जमकर पत्थरबाजी हुई। पुलिस ने मामले को शांत कराने के लिए लाठीचार्ज का सहारा लिया, जिसके बाद बवाल और बढ़ गया। लोगों ने पुलिस के वाहनों को आग के हवाले कर दिया। दुकानों में आग लगा दी। पुलिस महकमे में हडक़म्प मच गया। प्रदेश डीजीपी कार्यालय ने मामले का संज्ञान लेते हुए भारी पुलिस बल और चार कम्पनी पीएसी भेजी। भारी पुलिस ने मामले को शांत कराने का प्रयास किया। हालांकि हालात काबू में है लकिन तनाव बरकरार है।

वीडियो देखें: ट्रैफिक पुलिसकर्मी को कार के बोनट पर टांग ले गया कार ड्राइवर

एडीजी (कानून-व्यवस्था) आनंद कुमार ने बताया कि यह बवाल निर्धारित रूट से आगे बढऩे के चलते हुआ। मोहर्रम का जुलूस झंडा चौराहे से मुडऩे की बजाय आगे बढ़ा था। आगे मूर्ति विसर्जन के कार्यक्रम के चलते पथराव हुआ। पुलिस ने हालात काबू करने के लिए लाठीचार्ज और हवाई फायरिंग की। उन्होंने कहा कि पथराव और आगजनी दोनों ओर से हुई। एडीजी ने कहा कि उपद्रवियों को चिन्हित कर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। हालात काबू में लेकिन तनाव बरकरार है। मौके पर दो कंपनी पैरा मिलट्री फोर्स भेजी गई हैं। पूरे इलाके में पुलिस की गश्त जारी है।

यह भी पढ़ें : हमारे सभी उत्सवों का मकसद समाज में फैली विकृतियों को मिटाना है: प्रधानमंत्री मोदी

वहीं, बलिया के सिकंदरपुर में ताजिया जुलूस को लेकर हुए बवाल के बाद जमकर आगजनी हुई। हालात बेकाबू होते देख पुलिस ने चार राउंड आंसू गैस के गोले छोड़े, लेकिन स्थिति बिगड़ती गई। अराजकतत्वों ने वाहनों और दुकानों को आग के हवाले कर दिया। इस दौरान कई लोग घायल हो गए।

यह भी पढ़ें : छात्रा का अपहरण कर गैंगरेप, बनाया वीडियो

इसके अलावा, बरेली के बारादरी में ताजिया जुलूस निकालने को लेकर बवाल हो गया। पथराव में आधा दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए। पीलीभीत में अलग रूट से जुलूस निकालने पर दूसरे पक्ष के लोगों ने विरोध किया। इस बात को लेकर दोनों पक्षों में विवाद हो गया। इस दौरान मारपीट और पत्थरबाजी में करीब एक दर्जन लोग घायल हो गए। गोंडा और अम्बेडरनगर में भी जुलूस के दौरान दो पक्ष आमने-सामने आ गए। सम्भल, इलाहाबाद, कौशांबी और कुशीनगर जिले में भी जुलसू निकालने को लेकर छिटपुट झड़पें हुई।

वायरल वीडियो : खुलेआम रिश्वत ले रहे पुलिसकर्मी


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *