शारदीय नवरात्र 21 सितंबर से, कलश स्थापन का जानें शुभ मुहुर्त

शारदीय नवरात्र 21 सितंबर से, कलश स्थापन का जानें शुभ मुहुर्त



लखनऊ। भगवती दुर्गा की आराधना का महापर्व शारदीय नवरात्र इस बार आगामी 21 सितंबर से शुरू हो रहे हैं जो 29 सितंबर तक चलेंगे। सूबे की राजधानी लखनऊ निवासी पंडित सुधेश बाजपेयी के अनुसार, शारदीय नवरात्र आश्विन शुक्ल प्रतिपदा अर्थात 21 सितंबर को कलश स्थापना तथा ध्वजारोपण के लिए शुभ समय स्थिर लग्न सिंह प्रात: 5.38 के पहले करना श्रेयस्कर होगा।

पंडित जी बताते हैं कि इस समय में जो लोग कलश स्थापना न कर पाएं तो उन्हें किसी भी हालत में सुबह 9.57 से पहले अवश्य कलश स्थापन कराना होगा। इसके अलावा महानिशा पूजा 27 सितंबर को, निशीथ काल में बलि इत्यादि और महाअष्टमी व्रत 28 सितंबर को होगा। 29 सितंबर को नवमी पर होम, चंडी देवी की पूजा और बलिदान आदि करना चाहिए।

यह भी पढ़ें : अधिवेशन से पहले मुलायम ने बुलाई लोहिया ट्रस्ट की बैठक

पंडित जी ने बताया कि नवरात्र व्रत का पारन 30 सितंबर विजय दशमी को प्रात: किया जाएगा या 29 सितंबर को रात 9.22 के बाद भी किया जा सकता है। महाअष्टमी व्रत पारन 29 सितंबर को या 28 सितंबर को रात 7.27 बजे के बाद किया जा सकता है। संपूर्ण नवरात्र व्रत करने वालों का पारन 30 सितंबर को प्रात: या 29 को रात 9.22 बजे के बाद भी किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें : मुख्यमंत्री योगी व समेत पांचों एमएलसी 18 को लेंगे शपथ

पूजन-दर्शन और उपवास

21 सितंबर – सुबह 9.57 बजे तक प्रतिपदा – शैलपुत्री दर्शन

22 सितंबर – सुबह 10.05 बजे तक द्वितीय – ब्रह्मचारिणी देवी दर्शन

23 सितंबर – सुबह 10.46 बजे तक तृतीया – चंद्रघंटा देवी दर्शन

24 सितंबर – सुबह 11.51 बजे तक चतुर्थी – कूष्मांडा

25 सितंबर – दोपहर 1.26 बजे तक पंचमी – स्कंदमाता देवी दर्शन

26 सितंबर – दोपहर 3.18 बजे तक षष्ठी  – कात्यायनी देवी दर्शन

27 सितंबर – शाम 5.23 बजे तक सप्तमी  – कालरात्रि दर्शन

28 सितंबर – शाम 7.27 बजे तक अष्टमी  – महागौरी

29 सितंबर – रात 9.22 बजे तक महानवमी – सिद्धिदात्री देवी दर्शन

30 सितंबर – विजय दशमी

यह भी पढ़ें : अखिलेश सरकार में छपे राशनकार्ड फर्जी!


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *