म्यांमार हिंसा के बाद 3.13 लाख रोहिंग्या बांग्लादेश आए : संयुक्त राष्ट्र

म्यांमार हिंसा के बाद 3.13 लाख रोहिंग्या बांग्लादेश आए : संयुक्त राष्ट्र



Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn
रोहिंग्या मुस्लिमों को अस्थायी आवास और मौजूद शिविरों में रखा गया है।

ढाका। बांग्लादेश स्थित संयुक्त राष्ट्र कार्यालय ने सोमवार को बताया कि म्यांमार के राखेन प्रांत में फैली हिंसा के बाद यहां अब तक कुल 313,000 रोहिंग्या मुस्लिम सीमापार कर आ चुके हैं।

एफे न्यूज के मुताबिक, अंतर क्षेत्रीय समन्वय समूह ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि म्यांमार में 25 अगस्त के बाद फैली हिंसा के बाद यहां आए नए 246,000 रोहिंग्या मुस्लिमों को अस्थायी आवास और मौजूद शिविरों में रखा गया है। समूह के अनुसार, बाकी 67,000 रोहिग्या मुस्लिम को अस्थायी बस्तियों में रखा गया है और जहां तक रोहिंग्या के यहां लगातार आने का सवाल है, इसमें लगातार कमी आ रही है।

यह भी पढ़ें : ‘फूफा’ बना कर ठग लिए 49 हजार रुपए

म्यांमार में उग्रवादी समूह के पुलिस एवं मिलिट्री चौकियों पर हमले के बाद फैली हिंसा के बाद बांग्लादेश के दक्षिणपूर्वी भाग में लगातार रोहिंग्या शरणार्थी आ रहे हैं। उग्रवादी समूह ’द अराकान रोहिंग्या साल्वेशन आर्मी’ ने शनिवार को लोगों को मानवीय सहायता पहुंचाए जाने के उद्देश्य से एक महीने की संघर्ष विराम की घोषणा की थी जिसे म्यांमार सरकार ने खारिज कर दिया।

यह भी पढ़ें : लखनऊ: एचडीएफसी बैंक के बाहर व्यापारी से दस लाख की लूट

इससे पहले पिछले वर्ष के अंत में भी ऐसे ही उग्रवादी हमले के बाद वहां हुई हिंसा के बाद लगभग 80,000 रोहिंग्या वहां से भागकर बांग्लादेश आए थे। रोहिंग्या संकट से पहले बांग्लादेश में लगभग 300,000 से 500,000 रोहिंग्या समुदाय के लोग रहते थे जिनमें से केवल 32,000 को शरणार्थी का दर्जा प्राप्त है।

यह भी पढ़ें : सच को सच कह दोगे अगर तो फांसी पर चढ़ जाओगे


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *