पढ़े पूरा मामला: अब ‘छम्मकछल्लो’ कहने पर आप फंस सकते हैं मुश्किल में

पढ़े पूरा मामला: अब ‘छम्मकछल्लो’ कहने पर आप फंस सकते हैं मुश्किल में



नई दिल्ली। देश के हिन्दी भाषी क्षेत्रों में किसी महिला की सुंदरता पर टिप्पणी करते वक्त लोगों को ‘छम्मकछल्लो’ शब्द का अक्सर लोग इस्तेमाल करते हैं। यहां यह जानना जरूरी है कि उक्त शब्द आपको चाहें कितना भी लुभावना लगे, लेकिन आप कानूनी पेंच में फंस सकते हैं। जी हां, ठाणे की एक अदालत ने कहा है कि इस शब्द का इस्तेमाल करना ‘एक महिला का अपमान करने’ के बराबर है।

यह भी पढ़ें : कोतवाली सेक्स रैकेट कांड: पुलिस की कार्यवाही पर उठ रहे सवाल

गौरतलब है कि एक मजिस्ट्रेट ने पिछले सप्ताह शहर के एक निवासी को ‘अदालत के उठने तक’ साधारण कैद की सजा सुनाई थी और उस पर एक रुपए का जुर्माना लगाया था। पड़ोसी महिला की शिकायत के अनुसार, नौ जनवरी 2009 को जब वह अपने पति के साथ घर वापस आ रही थी, तब उसे एक कूड़ेदाी में ठोकर लग गई।

यह भी पढ़ें : कोतवाली परिसर में चल रहे सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, दो गिरफ्तार

कूड़ा फैल गया तब आरोपी ने उक्त महिला को छम्मकछल्लों कह दिया था। जिससे नाराज महिला ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराने गई, लेकिन पुलिस ने शिकायत दर्ज करने से इनकार कर दिया। इसके बाद महिला ने अदालत का रुख किया।

यह भी पढ़ें : रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने क्यों कहा, ट्रंप मेरी दुल्हन नहीं

आठ साल बाद, न्यायिक मजिस्ट्रेट आर टी लंगाले ने मामले को उचित ठहराया। उन्होंने कहा कि आरोपी ने भारतीय दंड संहिता की धारा 509 (शब्द, इशारे या किसी गतिविधि से महिला का अपमान) के तहत अपराध किया है। मजिस्ट्रेट ने अपने आदेश में कहा, यह एक हिंदी शब्द है। अंग्रेजी में इसके लिए कोई शब्द नहीं है। आम तौर पर इसका इस्तेमाल किसी महिला का अपमान करने के लिए किया जाता है। यह किसी की तारीफ करने का शब्द नहीं है, इससे महिला को चिढ़ होती है और उसे गुस्सा आता है।

यह भी पढ़ें : जानिए फीचर्स और कीमत: लेनोवो ने लांच किया के-8 प्लस स्मार्टफोन


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *