डेरा सच्चा सौदा: जेल में बंद राम रहीम असली है या हनीप्रीत के साथ फरार!

डेरा सच्चा सौदा: जेल में बंद राम रहीम असली है या हनीप्रीत के साथ फरार!



dera sachha sauda gurmeet ram rahim with hanipreet
हरियाणा पुलिस अब इस जांच में जुटी है कि जेल में बंद राम रहीम असली है या हनीप्रीत के साथ फरार हो गया है।

चंडीगढ़/नई दिल्ली । हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि हरियाणा में डेरा सच्चा सौदा के 117 ‘नाम चर्चा घरों’ की तलाशी और जांच के दौरान कुछ आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई है। बता दें कि डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम इस समय रोहतक की जिला जेल में कैद है। इस बीच सोशल मीडिया पर यह संदेह जताए जाने पर कि सलाखों के पीछे जो राम रहीम है, वह असली नहीं, बल्कि उसका हमशक्ल है। हरियाणा पुलिस अब इस जांच में जुटी है कि जेल में बंद राम रहीम असली है या हनीप्रीत के साथ फरार हो गया है।

यह भी पढ़ें : धर्मगुरुओं और राधे मां को ऐसा कहा कि twitter पर troll हुए ऋषि कपूर

प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर सोमवार को रेवाड़ी में पत्रकारों से बाचतीत कर रहे थे। पत्रकारों न जब हरियाणा में कई डेरा परिसरों की तलाशी के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि अगर यह उचित तरीके से चल रहा है तो अच्छा है। इस सम्बंध में शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें : साध्वी से रेप का मामला: बलात्कारी बाबा राम रहीम को 20 साल की सजा

डेरा परिसरों की तलाशी में आपत्तिजनक सामग्री बरामद

स्वयंभू संत बाबा गुरमीत राम रहीम सिंह के सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा के मुख्यालय से 33 काफी खतरनाक हथियार बरामद हुए हैं। इन हथियारों को देखकर पुलिस अफसरों के भी हाथ-पांव फूलने लगे। उन्होंने बताया कि डेरा अधिकारियों ने राज्य सरकार को हथियार सौंप दिए हैं और राज्य सरकार के साथ सहयोग कर रहे हैं। उन्होंने हालांकि यह नहीं बताया कि किस तरह के हथियार या अन्य सामग्री बरामद हुई है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि डेरा परिसर में हिंसा के लिए इस्तेमाल किए जा सकने वाले हथियारों एवं अन्य सामग्री बरामद की गई है।

यह भी पढ़ें : पति को ऑफिस में भेजने के बाद ये सब करती हैं महिलाएं!

राम रहीम दो मामलों में दोषी करार

बता दें कि सीबीआई की विशेष अदालत ने डेरा प्रमुख राम रहीम को 25 अगस्त को दुष्कर्म के दो मामलों में दोषी करार दिया गया था। इसके बाद डेरा समर्थकों ने पंचकूला और सिरसा में हिंसा, तोड़-फोड़ व आगजनी की घटनाओं को अंजाम दिया, जिसमें 38 लोग मारे गए थे और 264 घायल हो गए थे। दो दिन बाद बाबा को 20 वर्ष कैद की सजा सुनाई गई।

यह भी पढ़ें : देखें वीडियो : मारिया कैरी का कमरा अंतर्वस्त्रों से पटा पड़ा


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *