आरटीआई में खुलासा: मुख्यमंत्री के ओएसडी पद के लिए निर्धारित नहीं है कोई नियमावली

आरटीआई में खुलासा: मुख्यमंत्री के ओएसडी पद के लिए निर्धारित नहीं है कोई नियमावली



लखनऊ। प्रदेश में मुख्यमंत्री का ओएसडी (विशेष कार्याधिकारी) बनने के लिए किसी भी प्रकार की शैक्षिक योग्यता की जरूरत नहीं है। आरटीआई एक्टीविस्ट संजय शर्मा ने प्रदेश के मुख्यमंत्री कार्यालय में बीते पांच जून को दायर की गई एक आरटीआई पर प्रदेश के सचिवालय प्रशासन अनुभाग-1 के अनुभाग अधिकारी विजय कुमार मिश्र द्वारा बीते 20 जुलाई को दिए गए जवाब में यह बात सामने आई है।

पांच लोगों को बनाया गया है ओएसडी

शर्मा ने बताया कि उन्हें बताया गया है कि प्रदेश सरकार को यह पता ही नहीं है कि प्रदेश के मुख्यमंत्रियों के विशेष कार्याधिकारी रखने की प्रथा का आरंभ कब की गई थी। उनको दी गई सूचना के अनुसार प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार ने बीते 30 जून को बिना किसी नियम, अधिनियम के ही योगी के आदेश पर ओएसडी के पद पर नियुक्ति के लिए पांच अस्थाई नि:संवर्गीय पदों का सृजन करके इन पदों पर राजभूषण सिंह रावत, अभिषेक कौशिक, संजीव सिंह, उमेश सिंह और धर्मेंद्र चौधरी को बिना किसी चयन प्रक्रिया के ही नियुक्ति दे दी है।

नियुक्ति प्रक्रिया के लिए कोई शासनदेश नहीं

संजय को बताया गया है कि मुख्यमंत्री के ओएसडी पद पर नियुक्ति की प्रक्रिया के संबंध में न तो कोई शासनादेश है और न ही कोई अधिनियम प्रख्यापित है। विशेष कार्याधिकारी के पद के लिए कोई शैक्षिक अर्हता या योग्यता निर्धारित न होने की सूचना भी संजय को प्राप्त हुई है।

पांच ओएसडी की सूचनाएं शासन के पास नहीं

संजय ने बताया कि इन पांचों ओएसडी की योग्यताओं, अनुभव तथा पांचों को आवंटित कार्य की सूचना भी शासन के पास नहीं है। इसके अलावा इनके द्वारा किये गए कार्य, इनकी चल अचल संपत्ति, इनके गृह जनपदों और इनकी राजनैतिक दलों से संबद्धता से संबंधित कोई भी सूचना शासन के पास नहीं है।

मनमानी हो रहीं नियुक्तियां

संजय ने एजेंसी को बताया कि ओएसडी का पद एक संवेदनशील एवं राजपत्रित पद है और इस पद पर बिना नियम कानून के की जा रही मनमानी नियुक्तियां अवैध होने के कारण विधिशून्य हैं। उन्होंने ओएसडी की इन नियुक्तियों को निरस्त कराने और ओएसडी पद की नियुक्ति नियमावली बनवाकर नियमानुसार नियुक्ति करने की मांग को लेकर एक याचिका उच्च न्यायालय में दायर करने को कहा है।


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *