समस्या समाधान परिवार ने जरूरतमंदों को दूध और खाद्यान्न का वितरण किया

समस्या समाधान परिवार ने जरूरतमंदों को दूध और खाद्यान्न का वितरण किया



Lakhimpur Khiri. विश्व आपदा कोविड-19 महामारी के के कारण देश में लॉकडाउन है। इस बीच सोशल नेटवर्किंग ग्रुप समस्या समाधान परिवार के सदस्यों ने एक हजार पांच सौ (1500) लीटर दूध जरूरतमंद, गरीब मजदूर वर्ग के नौनिहाल बच्चों को घर घर जाकर निशुल्क उपलब्ध कराया और साथ ही साथ जिनके राशन कार्ड नहीं बने हैं उनके लिए लगभग 4 कुंटल राशन सामग्री का वितरण कराया।

सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर बने ग्रुप गोला की समस्या और समाधान परिवार के सक्षम सदस्यों के माध्यम से इकट्ठा की गई धनराशि से लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंद गरीब मजदूर वर्ग के परिवारों को ग्रुप के माध्यम से दूध, राशन, मास्क, दवा के साथ-साथ आर्थिक रूप से भी जरूरतमंदों की मदद करने का प्रयास लगातार किया जा रहा है। संचालक रजनीश गुप्ता बताते हैं कि विश्व आपदा में मानव हित के लिए भारत सरकार द्वारा लगाए गए लॉकडाउन का पालन पूरी सावधानी से करते हुए हम जो भी जरूरतमंदों की मदद कर पाएंगे निरंतर करते रहेंगे।

संचालक के द्वारा बताया गया कि इस मुसीबत की घड़ी में ग्रुप के कृषांग गुप्ता, रोहित तिवारी, अजीत जैन, जुनैद इराकी, प्रदीप कुमार, सोमेश गुप्ता, राहुल गुप्ता, प्रदीप शर्मा, चंद्र प्रकाश मौर्य, दिलीप निषाद, अब्दुल लाइक, मतीन अहमद, विजय कुमार द्वारा श्रमदान कर काशीराम कॉलोनी, मुन्नूगंज, गढी मोहल्ला, भारत भूषण कॉलोनी, मथुरा नगर, पूर्वी दीक्षिताना, पश्चिमी दीक्षिताना, कुमारन टोला, बाल्मीकि बस्ती, गोकर्ण वार्ड, नीची भूड़, ऊंची भूड़, राजेंद्र नगर, पटेल नगर आदि गोला नगर के गरीब मजदूर परिवारों के नौनिहाल बच्चों को चिन्हित कर परिवारों के घरों घरों में प्रतिदिन दूध मुहैया कराया जा रहा है।

इसके साथ ही ऐसे परिवारों को भी चिन्हित किया जा रहा है, जो मजदूरी पेशा के हैं और उनके राशन कार्ड किन्ही कारणों बस अभी तक नहीं बन पाए हैं उनको राशन सामग्री उन्हीं के आवास पर मुहैया कराई जा रही है। वहीं, बीमार बुजुर्गों की दवा व नगर में जरूरत के स्थानों पर साफ सफाई के साथ-साथ जरूरतमंद परिवारों को आर्थिक मदद भी लगातार करने के साथ आगे भी जरूरतमंदों की मदद के प्रयास को जारी रखने का प्रयास किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें… संयोगिता पाठक ने गरीबों के भोजन के लिए 21000 रुपए का चेक दिया


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *