सीडब्लूसी की बैठक से पहले कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, इस नेता ने दिया इस्तीफा

सीडब्लूसी की बैठक से पहले कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, इस नेता ने दिया इस्तीफा



Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn

New Delhi. लोकसभा चुनावों में कांग्रेस को मिली करारी हार के बाद पार्टी में खलबली मची हुई है। पार्टी के कई नेता अपने-अपने पदों से इस्तीफा दे चुके हैं। इसी कड़ी में झारखंड कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार ने इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने पार्टी नेताओं पर परिवारवाद और भ्रष्टाचार का आरोप लगााते हुए हमला बोला है।

झारखंड प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद अजय कुमार ने राहुल गांधी को पत्र भेजा है। उन्होंने पत्र कहा कि मैंने पार्टी को मजबूत बनाने के लिए पूरी मेहनत की है, लेकिन मेरे प्रयासों पर पानी फेरने का काम किया गया है। उन्होंने कहा कि इन सब अवरोधों के बावजूद लोकसभा चुनाव 2019 में 2014 के चुनावों की अपेक्षा मत प्रतिशत में करीब 12 फीसदी उछाल आया है।

उन्होंने कांग्रेस नेताओं पर परिवारवाद का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कुछ नेता अपने बेटे और बेटियों को टिकट दिलाने के लिए पैरवी करते हैं, लेकिन जब सीट असुरक्षित होने लगती है तो हायतौबा मचाने लगते हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी में ओछे स्वार्थ के नेताओं की एक लम्बी सूची है, उनका मकसद सिर्फ टिकट बेचना और पैसा एकत्र करना है।

इसके साथ उन्होंने पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय पर पार्टी कार्यालय में हमला करने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करने का आरोप लगाया है। अजय कुमार ने अपने इस्तीफे की प्रति वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी, एके एंटनी सहित तमाम नेताओं को भेजी है। बता दें कि कांग्रेस पार्टी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष चुनने के लिए 10 अगस्त को कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक बुलाई है। इससे पहले की झारखंड प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का इस्तीफा देना कांग्रेस के लिए बड़ा झटका है।

यह भी पढ़ें …

मोदी सरकार के ये चार सबसे विश्वसनीय अफसर, जो मिशन कश्मीर को सफलतापूर्वक दे रहे अंजाम

बसपा सुप्रीमो मायावती ने पार्टी में किया बड़ा फेरबदल, इस नेता को बनाया प्रदेश अध्यक्ष

अनुच्छेद 370 पर बंटी दिखी कांग्रेस, इन वरिष्ठ नेताओं ने मोदी सरकार का किया समर्थन


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *