बड़ा झटका, अब यहां से बेदखल होंगे कांग्रेस अध्यक्ष!

बड़ा झटका, अब यहां से बेदखल होंगे कांग्रेस अध्यक्ष!



New Delhi. केंद्र की मोदी सरकार कांग्रेस को एक और बड़ा झटका देने की तैयारी में है। दरअसल, केंद्रीय पर्यटन मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने 29 जुलाई को लोकसभा में जलियावाला बाग नेशनल मेमोरियल संसोधन विधेयक पेश किया था। इस विधेयक में कांग्रेस अध्यक्ष को जलियावाला बाग के स्थाई ट्रस्टी के पद से हटाए जाने की बात भी शामिल है।

मोदी सरकार की ओर से पेश किए गए जलियावाला बाग नेशनल मेमोरियल संसोधन विधेयक पर कांग्रेस ने तीखा विरोध किया है। कांग्रेस नेता शशि थरूर ने विधेयक की कड़ी आलोचना की। उन्होंने कहा कि इस विधेयक को रोकना चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा हमारी विरासत और इतिहास को बर्बाद न करे। वहीं, इसके जवाब में प्रहलाद सिंह पटेल ने कांग्रेस पर करारा प्रहार किया। उन्होंने कहा कि बीते 40 से 50 सालों में कांग्रेस ने इस मेमोरियल के विकास के लिए कुछ नहीं किया है।

नए विधेयक में केन्द्र सरकार को अधिकार दिया गया है कि वह ट्रस्टी के किसी सदस्य का कार्यकाल पूरा होने से पहले हटा सकता है। पीएम मोदी इस ट्रस्ट के मुखिया हैं। इस ट्रस्ट में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, सांस्कृतिक मंत्री और लोकसभा में नेता विपक्ष शामिल हैं। वहीं, पंजाब के सीएम भी ट्रस्टी हैं।

बता दें कि 13 अप्रैल, 1919 को ब्रिटिश अफसर जनरल डायर ने आंदोलनकारियों पर गोलियां चलवा दी थीं, जिसमें हजारों लोगों की मौत हो गई थी। केंद्र की मोदी सरकार जलियावाला बाग कांड के शताब्दी वर्ष पर मेमोरियलल से जुड़े कानूनों में संशोधन का प्रस्ताव रखा है। सरकार ने इसे एक बार फिर से लोकसभा में पेश किया है और राज्यसभा से भी पास करा लेने पर भरोसा जताया है।

यह भी पढ़ें :

एशेज के साथ टेस्ट चैंपियनशिप का आगाज, इन टीमों के बीच होगा मुकाबला

महिला प्रधान पतियों का कार्यक्रमों में नहीं चलेगा हस्तक्षेप : डॉ. प्रीति वर्मा

सावधान! डॉक्टर साहब अभी निजी प्रैक्टिस पर हैं, थोड़ी देर बाद आएंगे!

मोदी सरकार को बड़ी कामयाबी, राज्यसभा में भी पारित हुआ तीन तलाक विधेयक


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *