जमीन कब्जे को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष, तीन महिलाओं सहित 11 लोगों की मौत

जमीन कब्जे को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष, तीन महिलाओं सहित 11 लोगों की मौत



Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn

Lucknow. प्रदेश के सोनभद्र में घोराल के उभ्भा गांव में भूमि विवाद में दो पक्षों के बीच हुए खूनी संघर्ष में 11 लोगों की मौत हो गई, जबकि छह लोग घायल हो गए। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। वहीं, गांव में तनाव को देखते हुए पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।सीएम योगी आदित्यनाथ ने घटना का संज्ञान लेते हुए मृतक परिवारों के प्रति संवदेना व्यक्त की और पुलिस महानिदेशक को मामले में आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए।

पुलिस के मुताबिक, सोनभद्र के घोराबल कस्बे के उभ्भा गांव में दो गुटों में जमीन को लेकर विवाद हुआ। बताया जा रहा है कि यज्ञ दत्त नाम के ग्राम प्रधान ने करीब 90 बीघे जमीन 2 साल पहले खरीदी थी, उसी जमीन का कब्‍जा करने गए थे, जिसका स्‍थानीय लोगों ने विरोध किया। इस दौरान विवाद इतना बढ़ गया कि प्रधान के साथ आए लोगों ने ग्रामीणों पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि जमीन पर कब्‍जा करने के लिए प्रधान 20 ट्रैक्‍टरों में भरकर 300 लोगों को लेकर आया था। घटना के बाद से प्रधान यज्ञ दत्त फरार है।

बताया जा रहा है कि इस क्षेत्र में गोंड और गुर्जर आदिवासी रहते हैं, यह इलाका जंगल से घिरा हुआ है। इस इलाके में वनभूमि पर कब्‍जे को लेकर अक्‍सर झगड़ा होता रहता है। इसी इलाके में साल 2014 में तत्‍कालीन मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने 6000 बीघे वनभूमि में 5 लाख पेड़ एक ही दिन में लगवाए थे।

यह भी पढ़ें – 

यूपी भाजपा अध्यक्ष बने स्वतंत्र देव सिंह, कार्यकर्ताओं ने किया खुशी का इजहार

सपा नेता अखिलेश यादव की गोली मारकर हत्या, सपाइयों में आक्रोश

समाजवादी पार्टी को राज्यसभा से लगा तगड़ा झटका, इस वरिष्ठ नेता ने दिया इस्तीफा


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *