मौद्रिक समीक्षा : आरबीआई ने घटाई ब्याज दरें, होम लोन सस्ता होने की उम्मीद

मौद्रिक समीक्षा : आरबीआई ने घटाई ब्याज दरें, होम लोन सस्ता होने की उम्मीद



Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn

Lucknow. होम लोन, कार लोन और ईएमआई के जरिए लोन लेने वालों के अच्छी खबर है। दरअसल, रिजर्व बैंक आफ इण्डिया ने ब्याज दरों में कटौती करने का ऐलान कर दिया है। ब्याज दरों में कटौती से आम आदमी को सीधा फायदा होगा।

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास की अध्यक्षता में मौद्रिक नीति समिति की बैठक हुई, जिसमें मौद्रिक नीति समिति के सभी सदस्य डॉ. पामी दुआ, डॉ. रवींद्र एच. ढोलकिया, डॉ. माइकल देबब्रत पात्रा, डॉ. चेतन घाटे और डॉ. विरल वी. आचार्य शामिल हुए। बैठक में वित्त वर्ष 2019-20 की दूसरी द्विमासिक मौद्रिक समीक्षा की गई।

इस दौरान मौद्रिक नीति समिति के सभी छह सदस्यों ने एकमत से रेपो रेट में 0.25 फीसदी की कटौती के पक्ष में मतदान किया, जिससे अब रेपो रेट 6.0 प्रतिशत से घटकर 5.75 हो गई है। वहीं, जीडीपी विकास दर अनुमान को 7.2 फीसदी से घटाकर सात फीसदी कर दिया गया है। हालांकि सीआरआर में कोई कटौती नहीं की गई है।

shaktikant das
भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास

नई मौद्रिक नीति के तहत जबकि रिवर्स रेपो रेट घटकर 5.50 हो गई है जबकि बैंक दर छह प्रतिशत हो गई है। इस समिति की अगली बैठक 5-7 अगस्त, 2019 को होगी। बता दें कि आरबीआई ने इससे पहले अप्रैल में रेपो रेट में 0.25 फीसदी की कटौती की थी। हालांकि इससे पहले तीन बार मौद्रिक नीति समीक्षा में रेपो रेट को लेकर स्थिति पहले जैसी बरकरार रखी थी।

बता दें कि रेपो रेट ब्याज की वह दर होती है, जिस पर रिजर्व बैंक बैकों को फंड मुहैया कराता है। ऐसे में रेपो रेट घटने से बैंकों को आरबीआई से सस्ती फंडिंग प्राप्त हो सकेगी, इसलिए बैंक भी अब कम ब्याज दर पर लोन ऑफर कर पाएंगे।

यह भी पढ़ें….

चुनाव खत्म होते ही मायावती ने कर दिया बड़ा ऐलान, अखिलेश की बढ़ी मुश्किलें

फर्जी माता-पिता और बाराती, युवती से शादी रचा ले गया तीन बच्चों का पिता

संसद से इस्तीफा देंगे सपा के वरिष्ठ नेता आजम खान, ये है बड़ी वजह

चुनाव में करारी हार के बाद मुलायम सिंह उठाएंगे ये बड़ा कदम, अखिलेश की बढ़ेंगी मुश्किलें


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *