ईस्टर के मौके पर आठ धमाकों से दहला श्रीलंका, 207 लोगों की मौत

ईस्टर के मौके पर आठ धमाकों से दहला श्रीलंका, 207 लोगों की मौत



Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn

New Delhi. ईस्टर के मौके पर चर्च और होटलों में सिलसिलेवार हुए आठ धमाकों श्रीलंका पूरी दहल उठा है। सिलसिलेवार हुए बम धमाकों में करीब 207 लोगों की मौत हुई है, जबकि 450 से अधिक घायल बताए जा रहे हैं। इस हमले में मरने वालों में दर्जनों विदेशी नागरिक भी हैं। इस हमले की जिम्मेदारी अभी तब किसी संगठन ने नहीं ली है। वहीं, सात संदिग्धों को हिरासत में ले लिया गया है। श्रीलंका में कफ्र्यू लगा दिया गया, इंटरनेट की सेवाएं बंद कर दी गई हैं।

श्रीलंका में रविवार को ईस्टर के मौके पर प्रार्थना के लिए लोग चर्च में इकट्ठे हुए थे, अचानक सुबह 8 बजकर 45 मिनट पर पहला धमाका हुआ, जिससे वहां अफरा—तफरी मच गई। बताया जा रहा है कि इसके बाद एक के बाद एक छह जगहों पर हमले हुए। हमलावरों ने 3 चर्च और 3 होटलों को निशाना बनाया है।

पहला धमाका कोलंबो में सैंट एंटनी चर्च में हुआ, जबकि दूसरा धमाका नेगोम्बो कस्बे के सेबेस्टियन चर्च में हुआ। वहीं, तीसरा धमाका पूर्वी शहर बाट्टिकालोआ के चर्च में हुआ। इसके अलावा जिन होटलों को निशाना बनाया गया है, उनमें द शांगरीला, द सिनामॉन ग्रैंड और द किग्सबरी शामिल हैं। इन धमाकों में करीब 207 लोगों की मौत हुई है, जबकि 450 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है। इनमें से करीब 35 लोग विदेशी हैं।

बताया जा रहा है कि मरने वालों का आंकड़ अभी और बढ़ सकता है। हालांकि अभी तक किसी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। वहीं, सुरक्षाबलों ने सतर्कता दिखाते हुए सात संदिग्धों को गिरफ्तार किया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमले को लेकर कड़ी निंदा की और उन्होंने श्रीलंका के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को फोन पर बात कर हरसम्भव मदद का आश्वासन दिया। पीएम मोदी ने इस हमले को पूर्व नियोजित बर्बर कार्य और कायरतापूर्ण बताया।

मोदी ने कहा कि ये हमले हमारे देश और पूरी दुनिया में आतंकवाद द्वारा पूरी मानवता के लिए पेश की गई सबसे गंभीर चुनौती की याद दिलाते हैं।

वहीं, ब्रिटिश पीएम टेरिजा मे ने कहा कि श्री लंका के होटल और चर्च पर हुए हमले डराने वाले हैं। इस घटना का शिकार हुए लोगों के साथ मेरी सहानुभूति है। इसके खिलाफ हम सबको एकजुट होकर खड़े होना चाहिए ताकि कोई भी अपने धर्म से जुड़े कार्य करते वक्त डर में न रहे।”

यह भी पढ़ें …

वाराणसी से चुनाव लड़ने को लेकर प्रियंका गांधी ने किया बड़ा ऐलान, बीजेपी की बढ़ीं मुश्किलें

सपाइयों पर भड़की मायावती, अखिलेश के सामने की कह डाली बड़ी बात

विंग कमांडर अभिनंदन को लेकर भारतीय वायुसेना ने किया बड़ा ऐलान

कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने पार्टी से दिया इस्तीफा, इसलिए थीं नाराज


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *