चुनाव आयोग का बैन हटते की भड़की मायावती, कहा- योगी पर आयोग की मेहरबानी क्यों?

चुनाव आयोग का बैन हटते की भड़की मायावती, कहा- योगी पर आयोग की मेहरबानी क्यों?



Lucknow. लोकसभा चुनाव को लेकर दूसरे चरण का जहां मतदान शुरू हो चुका है। वहीं, राजनीतिक दल एक दूसरे पर हमलावर है। चुनाव को लेकर सियासी सरगर्मी अपने पूरे शबाब पर है। बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने मुख्यमंत्री योगी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने सीएम योगी के मंदिर जाने पर सवाल उठाए। उन्होंने चुनाव आयोग से भी पूछा कि वह इतना मेहरबान क्यों है?

लोकसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों का चुनाव प्रचार अपने पूरे शबाब पर है, लेकिन इस बीच चुनाव आयोग ने बसपा सुप्रीमो मायावती, आजम खान, जयप्रदा और सीएम योगी आदित्यनाथ पर प्रचार के बैन लगा दिया था। बसपा सुप्रीमो मायावती पर 48 घंटे का बैन लगा था, जो आज समाप्त ​हो गया है। प्रचार से बैन हटते ही मायावती ने चुनाव आयोग पर सवाल उठाए हैं। मायावती ने कहा कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ बैन के बावजूद मंदिर—मंदिर घूम रहे हैं, क्योंकि उन्हें चुनाव में इसका लाभ मिलें। पर, चुनाव आयोग सीएम योगी पर इतना मेहरबान क्यों है।

मायावती ने ट्वीट किया है, चुनाव आयोग की पाबंदी का खुला उल्लंघन करके यूपी के सीएम योगी शहर-शहर और मन्दिरों में जाकर, दलित के घर बाहर का खाना खाने आदि का ड्रामा करके, उसको मीडिया में प्रचारित/प्रसारित करवाके चुनावी लाभ लेने का गलत प्रयास लगातार कर रहे हैं, किन्तु आयोग उनके प्रति मेहरबान है, क्यों?

मायावती ने कहा कि अगर ऐसा ही भेदभाव व बीजेपी नेताओं के प्रति चुनाव आयोग की अनदेखी व गलत मेहरबानी जारी रहेगी तो फिर इस चुनाव का स्वतंत्र व निष्पक्ष होना असंभव है। इन मामलों मे जनता की बेचैनी का समाधान कैसे होगा? बीजेपी नेतृत्व आज भी वैसी ही मनमानी करने पर तुला है जैसा वह अबतक करता आया है, क्यों?

यह भी पढ़ें …

कांग्रेस ने राजनाथ सिंह के खिलाफ इस दिग्गज को उतारा, सियासी सरगर्मी तेज

कांग्रेस नेता शत्रुध्न सिन्हा की पत्नी पूनम सपा में शामिल, राजनाथ के खिलाफ लड़ेंगी चुनाव

पुरानी पेंशन को लेकर प्रियंका गांधी ने कर दिया सबसे बड़ा ऐलान, पहली बार चूक गए मोदी

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने पार्टी प्रवक्ता पद से दिया इस्तीफा, मचा हड़कम्प

मायावती ने रैली में यह ऐलान कर पार्टी कॉडर को दे दिया बड़ा संदेश


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *