लोकसभा चुनाव : पहले चरण में भाजपा-बसपा व कांग्रेस के सभी उम्मीदवार करोड़पति

लोकसभा चुनाव : पहले चरण में भाजपा-बसपा व कांग्रेस के सभी उम्मीदवार करोड़पति



Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn

Lucknow. लोकसभा चुनाव-2019 के प्रथम चरण में उत्तर प्रदेश की आठ संसदीय सीटों पर होने वाले चुनावों में 96 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। उ.प्र. इलेक्शन वॉच और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिर्मोम्स ने लोकसभा चुनाव के पहले चरण में यूपी की आठ सीटों सहानपुर, कैराना, मुजफ्रफरनगर, बिजनौर, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, गौतम बुद्ध नगर निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे 96 उम्मीदवारों के शपथपत्रों का विश्लेषण किया। आगामी 11 अप्रैल को होने वाले पहले चरण में भाजपा, कांग्रेस और बसपा के सभी प्रत्याशियों समेत लगभग 41 प्रतिशत उम्मीदवार करोड़पति हैं। जिनमें बिजनौर सीट से बसपा उम्मीदवार मलूक नागर सबसे अमीर है, जबकि सबसे ज्यादा देनदारिया (कर्जदारी) भी उनके ही नाम है।

रविवार को राजधानी के एक होटल में आयोजित प्रेस वार्ता में एडीआर के प्रदेश प्रमुख संजय सिंह ने बताया कि यदि हम प्रत्याशियों की सम्पत्ति के ब्यौरे पर गौर करें तो 96 में से 39 (41 प्रतिशत) उम्मीदवारों की संपत्ति एक करोड़ रुपये या इससे ज्यादा है।

इनमें भाजपा, कांग्रेस और बसपा सभी उम्मीदवार (100 प्रतिशत) करोड़पति हैं, जिसमें सबसे ज्यादा संपत्ति बिजनौर से बसपा प्रत्याशी मलूक नागर की 2,49,96,28,021 बताई है। इसी तरह औसतन संपत्ति के मामले में पहले चरण में उम्मीदवारों की औसतन संपत्ति 5.56 करोड़ है।

उन्होंने बताया कि पहले चरण के मतदान में 40 उम्मीदवारों ने अपनी देनदारी घोषित की है। जिसमें सबसे ज्यादा देनदारियां 20,48,20,865 रुपये बिजनौर के बसपा उम्मीदवार मलूक नागर पर ही हैं। तीन उम्मीदवारों ने अपना पैन विवरण घोषित नहीं किया है।

संजय ने बताया कि अगर हम आपराधिक मामले की बात करे तो 96 में से 24 उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किये है। जबकि गंभीर आपराधिक मामले की सख्या 17 (18 प्रतिशत) है।

शैक्षिक योग्यता की बात करे तो पहले चरण में चुनाव लड़ रहे 39 (41 प्रतिशत) उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षिक योग्यता 8वीं और 12वीं के बीच घोषित की है। जबकि 45 (47 प्रतिशत) उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षिक योग्यता स्नातक और इससे ज्यादा घोषित की है जब कि 2 उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षिक योग्यता असाक्षर और 4 उम्मीदवारो ने अपनी शैक्षिक योग्यता साक्षर घोषित की है।

संजय ने बताया कि पहले चरण के चुनावी मैदान में उतरे 96 में से 56 (58 प्रतिशत) उम्मीदवारों ने अपनी आयु 25 से 50 वर्ष के बीच घोषित की है। जबकि 39 (41 प्रतिशत) उम्मीदवारों ने अपनी आयु 51 से 80 वर्ष के बीच घोषित की है। वहीं एक उम्मीदवार ने अपनी आयु ही घोषित नहीं की है।

(आईपीएन न्यूज एजेंसी)

यह भी पढ़ें …

बसपा के 75 अध्यक्ष सहित कई पदाधिकारी और पूर्व मंत्री भाजपा में हुए शामिल, सियासत तेज

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता निधन, पार्टी में दौड़ी शोक की लहर

कांग्रेस के लिए बड़ी खबर, एक और पार्टी का मिला साथ

सपा-बसपा ने संयुक्त रूप से किया बड़ा ऐलान, मचा हड़कम्प


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *