सर्वे : कांग्रेस और सपा-सपा अगर साथ चुनाव लड़ें तो भाजपा का हो जाएगा सफाया

सर्वे : कांग्रेस और सपा-सपा अगर साथ चुनाव लड़ें तो भाजपा का हो जाएगा सफाया



Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn

Lucknow. आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक दलों ने तैयारियां तेज कर दी है। कांग्रेस विपक्षी दलों को एकजुट कर सत्ताधारी दल भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए जुटी हुई है। ऐसे में कांग्रेस यूपी में प्रियंका गांधी के जरिए वोटरों को लेकर सेंधमारी की जुगत में है। हालांकि सपा-बसपा गठबंधन ने कांग्रेस को दरकिनार कर दिया था, लेकिन प्रियंका गांधी के राजनीति में एंट्री करते ही सपा-बसपा के तेवर नरम दिख रहे हैं, अब कांग्रेस के साथ समझौते के मूड में हैं। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी इसके संकेत दिए हैं। सपा-बसपा गठबंधन में अगर कांग्रेस भी शामिल होती है तो फिर भजापा का सूबे से पूरी तरह सफाया हो जाएगा।

आगामी लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर इंडिया टुडे की ओर से पहले ही सर्वे कराया जा चुका है। सर्वे के आए आंकड़ों के बाद कहा गया था ​​कि यदि यूपी में सपा-बसपा और कांग्रेस एक साथ मिलकर चुनावी मैदान में उतरती हैं तो भाजपा का यूपी में सफाया हो सकता है। सर्वे में कहा गया था कि इन तीनों दलों के गठबंधने से यूपी की 80 लोकसभा सीटों में से महज 5 सीटों पर भाजपा सिमट जाएगी।

हालांकि कांग्रेस में प्रियंका गांधी की एंट्री से पार्टी में हौसले बुलंद हैं। कांग्रेस नेता और कार्यकर्ताओं में जोश देखने को मिल रहा है। बीते दिनों प्रियंका जिस समय लखनऊ में रोड शो कर रही थीं। उस समय अखिलेश यादव फिरोजबाद में थे। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा था कि सपा-बसपा गठबंधन में कांग्रेस, आरएलडी और निषाद पार्टी भी शामिल है।

माना जा रहा है कि यदि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस, बसपा, सपा और रालोद का गठबंधन हो जाता है और प्रदेश की 80 में से 15 लोकसभा सीटें कांग्रेस को मिल जाएं तो यूपी में ग्राफ कुछ और हो जाएगा।

सूत्रों की मानें तो अखिलेश यादव कांग्रेस को 15 सीटें देने पर सहमत भी हो चुके हैं, लेकिन कांग्रेस ने सीटों की डिमांड बढ़ा दी है। माना जा रहा है कि कांग्रेस अब 25 सीटें मांग रही है, हालांकि कांग्रेस को 25 सीटें देने पर सपा—बसपा राजी नहीं है।

बता दें कि समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने यूपी में भाजपा और कांग्रेस को दरकिनार करते हुए गठबंधन का ऐलान कर दिया था। गठबंधन के ऐलान के बाद दोनों दलों ने सीटों को लेकर भी ऐलान कर दिया था।

यूपी की 80 लोकसभा सीटों में से सपा 37 और बसपा 38 सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान भी कर चुकी है। जबकि तीन सीटें रालोद के खाते में गई हैं और कांग्रेस के लिए मात्र दो सीटें ही छोड़ी हैं।

यह भी पढ़ें …

यूपी में चला प्रियंका का जादू : बसपा सरकार के पूर्व मंत्री और रिटायर्ड आईएएस सहित कई नेता कांग्रेस में शामिल

सपा के वरिष्ठ नेता का निधन, पार्टी में मचा हड़कम्प

बड़ी खबर: बसपा सुप्रीमो ने इस वरिष्ठ नेता को बनाया अध्यक्ष, कांग्रेस-भाजपा की बढ़ी मुसीबत

बड़ा दांव : इन तीन मुख्यमंत्रियों के सम्पर्क में कांग्रेस, बीजेपी में खलबली

भाजपा में बगावत, ये दो वरिष्ठ नेता कांग्रेस में होंगे शामिल, मचा हड़कम्प


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *