मुख्यमंत्री योगी बोले, किसानों की कर्जमाफी उपकार नहीं, अधिकार

मुख्यमंत्री योगी बोले, किसानों की कर्जमाफी उपकार नहीं, अधिकार



Share on FacebookTweet about this on TwitterShare on Google+Pin on PinterestShare on LinkedIn

लखनऊ। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अब तक सरकारें सिर्फ कर्जमाफी को लेकर राजनीति करती थीं लेकिन भाजपा सरकार ने कर्जमाफी को साकार किया है, किसानों की कर्जमाफी उपकार नहीं अधिकार है। उन्होंने कहाकि किसानों की जमीन पर कब्जा करने की कोई कोशिश करेगा तो जेल भेजा जाएगा। योगी ने इस मौके पर अपील भी कि दूध पीने के बाद गायों को सडक़ों पर न छोड़े।

किसानों की कर्जमाफी को साकार किया: योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरूवार को राजधानी के स्मृति उपवन में केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और अपने अन्य मंत्रिमण्डलीय सहयोगियों के साथ लखनऊ जिले के लगभग सात हजार किसानों को कर्जमाफी प्रमाणपत्र वितरण समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहाकि मोदी सरकार आने के बाद खाद और बीज की समस्या दूर हुई है,पहले लम्बी लाईनें लगतीं थीं। किसानों को स्वावलंबी बनाने में सरकार जुटी है।

15 साल में धर्म और जाति की राजनीति हुई है और किसी सरकार के एजेंडे में किसान नहीं रहा है। कर्ज माफी के लिए अब तक 70 लाख किसानों के वेरीफिकेशन की कार्रवाई पूरी हो चुकी है। आजादी के 65 साल तक किसानों व गरीबों के बैंक खाते के बारे में नहीं सोचा गया था लेकिन हमारी सरकार ने जनधन खाता खोलकर सभी को सम्मान दिया।

सरकार किसानों के जनधन खातों को आधार से लिंक कर रही है ताकि किसानों का हक कोर्ई और न मार सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले नेताओं के बड़े बड़े मकान बन जाते थे। कई ने तो जीते जी अपनी मूर्तियां लगवा लीं। लेकिन भाजपा सरकार 10 लाख परिवारों को आवास देने जा रही है।

मुख्यमंत्री ने गिनाईं उपलब्धियां

प्रदेश सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए उन्होंने कहा कि ऐसा पहली बार हुआ है जब आलू का न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित किया गया है। योगी ने कहा कि ड्रिप इरिगेशन के लिए हम लघु और सीमांत किसानों को 80-90 प्रतिशत लाभ देंगे। सरकार ने किसानों से रिकार्ड मात्रा में 37 लाख टन गेहूं क्रय किया है। एक लाख मीट्रिक टन आलू खरीदने का लक्ष्य तय किया। उन्होंने कहा कि नक्सल प्रभावित इलाकों में 1 लाख 30 हजार रुपए का अनुदान हमने दिया है। छह लाख किसानों को मकान बनाने के लिए पहली किश्त दी गई है।

दूध पीकर गायों को सडक़ पर न छोडें

योगी ने अपील की कि दूध पीने के बाद गायों को सडक़ों पर मत छोड़ें। अगर उन्हें माता मानते हैं तो उसके लिए काम कीजिए। हम गौवंश की उन्नत नस्ल के लिए किसानों को मदद कर रहे हैं।

छुट्टा पशु भी हैें समस्या

मुख्यमंत्री ने कहा कि बुंदेलखंड सहित प्रदेश के तमाम शहरी क्षेत्रों में छुट्टा पशुओं की समस्या से निपटने के लिए गो सेवा आयोग को इन क्षेत्रों के छुट्टा पशुओं के लिए व्यवस्था करने का दायित्व सौंपा जाएगा और गोचर के लिए भूमि उपलब्ध करायी जाएगी।

राजनीति के केन्द्र में होंगे किसान व युवा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश की सत्ता पर पिछले 15 वर्ष से काबिज लोगों की राजनीति का आधार ही जाति और धर्म ही रहा। उनकी तो योजनाओं का आधार भी तुष्टीकरण था। इनके लिए सत्ता सौदा था और तबादला उद्योग। इनकी उपेक्षा के कारण किसान बदहाल होता गया। अब ऐसा करने वालों के दिन लद गए। अब राजनीति के केंद्र में किसान और युवा होंगे।

हमारी कथनी और करनी में कोई अंतर नहीं: राजनाथ

केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि विपक्षी कहते थे कि चुनाव में कर्जमाफी का वादा कर दिया गया, लेकिन पूरा नहीं होगा। हमने करके दिखा दिया। 100 दिन के अंदर कर्ज माफी बहुत बड़ी बात है।

हमारी कथनी और करनी में कोई अंतर नहीं है, यह सिद्ध हो गया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार आने के बाद खाद की कीमत में कमी हुई है। फसल बीमा योजना को लेकर किसान जागरूक हुए हैं। बहुत सी फसल बीमा योजनाएं शुरू हुई हैं, लेकिन कभी इतने किसानों ने बीमा नहीं करवाया, जितना मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद शुरू हुआ। राजनाथ ने कहा कि हम देश की 585 बड़ी मंडियों को ऑनलाइन जोडें़ंगे।

 


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *