तेजप्रताप यादव ने किया बड़ा ऐलान, विरोधियों के उड़ गए होश

तेजप्रताप यादव ने किया बड़ा ऐलान, विरोधियों के उड़ गए होश



Patna. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया लालू प्रसाद यादव के परिवार में बीते दिनों से सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। एक ओर जहां लालू प्रसाद यादव जेल में हैं। वहीं, उनके बड़े बेटे तेजप्रताप ने अपनी पत्नी को तलाक देने पर अड़े हुए है। इसके बाद से वह परिवार छोड़ कर घर से फरार हो गए थे, लेकिन हाल ही में बड़ी खुशखबरी मिली है।

बिहार के पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव काफी जोश में नजर आ रहे हैं। बताया जा रहा है कि जब से उन्होंने अपने पिता लालू से मुलाकात की है तभी से वह पार्टी को लेकर बात कर रहे हैं। वह पार्टी को आगे बढ़ाने के बारे में सक्रिय हो गए हैं। तेज प्रताप यादव का राजनीतिक एजेंडा बहुत ही स्पष्ट है। उन्होंने बार—बार कहा है कि वह कृष्ण हैं और तेजस्वी यानि उनके छोटे भाई एवं पूर्व डिप्टी सीएम अर्जुन हैं। उन्होंने कहा कि वह तेजस्वी को सत्ता दिलाकर ही रहेंगे। हालांकि तेजप्रताप का मानना है कि सत्ता की बागडोर तेजस्वी के पास रहे, लेकिन पार्टी की बागडोर वह खुद संभालना चाहते ​हैं।

तेजप्रताप ने पिता लालू से मुलाकात के बाद सीधे पार्टी कार्यालय पहुंचे थे। इसके बाद अचानक लालू प्रसाद की कुर्सी पर जाकर बैठ गए थे। उन्होंने पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर गांधी मैदान विशाल रैली कर दिया है। उन्होंने कहा कि ये यह रैली इसलिए है ताकि देश और दुनिया उनकी ताकत को देख सके। तेजप्रताप ने कहा है कि वह वृंदावन से एक सुदर्शन चक्र लेकर आए हैं, जिसका इस्तेमाल वह राजनीति में ही करेंगे। उन्होंने कहा कि जब उनका यह सुदर्शन चक्र चलेगा तो साम्प्रदायिक ताकतें नेस्तनाबूत हो जाएंगी। वहीं, तेजप्रताप की रैली को लेकर भाजपा और जदयू में खलबली मची हुई है।

उपेन्द्र कुशावहा ने एनडीए का छोड़ा साथ, तेजस्वी ने कही ये बड़ी बात

वहीं, तेजप्रताप यादव रांची से लौटने के बाद जोश में हैं, वह अपनी अगली रणनीति पर काम कर रहे हैं। इस बीच उनके लिए एक और अच्छी खबर है। दरअसल, नीतीश सरकार ने तेजस्वी को एक बड़ा बंगला अलॉट कर दिया है। उनका निवास जीतनराम मांझी के आवास के करीब ही है। बता दें कि अपनी पत्नी को तलाक देने के बाद वह अपने घर में नहीं रहना चाहते हैं। इसलिए वह पटना में अपने आशियाने की तलाश में जुटे हुए थे। इसके लिए उन्होंने नीतीश सरकार से आवास अलॉट करने की मांग की थी।


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *