कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सीएम चुनने की चनौती से निपटने को अपनाया ये फार्मूला, ये होंगे चेहरे

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सीएम चुनने की चनौती से निपटने को अपनाया ये फार्मूला, ये होंगे चेहरे



New Delhi. छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के मंगलवार को आए नतीजों में भारी बहुमत के साथ जीत दर्ज कराने के बाद यहां कांग्रेस सरकार बनाने जा रही है, लेकिन मुख्यमंत्री का चयन सबसे बड़ी चुनौती है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी स्वयं शक्ति एप के जरिए तीन लाख कार्यकर्ताओं का मन टटोल रहे हैं। बताया जा रहा है कि शक्ति एप के जरिए कार्यकर्ताओं से फीडबैक लिया जा रहा है कि किसे मुख्यमंत्री बनाया जाए।

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि बुधवार को छत्तीसगढ़ में तीन लाख कांग्रेस कार्यकर्ताओं के पास कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का फोन आया और प्रीरिकार्डेड मैसेज में बीप के बाद अपनी पसंद के मुख्यमंत्री का नाम बताने को कहा गया। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में शक्ति एप से तीन लाख कांग्रेस कार्यकर्ता जुड़े हुए हैं। इसके पहले भी विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी चयन के समय कांग्रेस अध्यक्ष ने 90 विधानसभा क्षेत्रों के कार्यकर्ताओं से प्रत्याशियों के नाम पूछे थे। त्रिवेदी ने कहा कि कांग्रेस विधायक दल की आज रात आठ बजे पहली बैठक होगी। इस बैठक में नवनिर्वाचित विधायकों के साथ अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खड़गे, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया, प्रभारी सचिव चंदन यादव और अरुण उरांव मौजूद रहेंगे।

एक्जिट पोल से खुश हुए इस वरिष्ठ नेता ने बता डाला सीएम पद के दावेदार का नाम

उन्होंने कहा कि इस बैठक के बाद मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा हो सकती है। छत्तीसगढ़ में प्रदेश के कई नामचीन चेहरे मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदार हैं। मौजूदा प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल, टी.एस. सिंह देव, ताम्रध्वज साहू और डॉ.चरणदास महंत का नाम चर्चा में है। सूत्रों के अनुसार, ऐसा पहली बार हो रहा है, जब कांग्रेस विधायक दल के अलावा आम कार्यकर्ताओं से मुख्यमंत्री चयन को लेकर राय ली जा रही है। कांग्रेस ने उम्मीदवारों के आवेदन भी ब्लॉक में मंगवाए थे तथा बूथ स्तर के पदाधिकारियों से अनुशंसा मंगवाई थी। विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को इसका बेहतर परिणाम मिला। गौरतलब है कि मंगलवार को आए चुनाव परिणामों में कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ में 90 में से 67 सीटों पर जीत दर्ज की है। भाजपा को छत्तीसगढ़ में सिर्फ 15 सीटों पर संतोष करना पड़ा है।

चुनाव छोड़ कांग्रेसी नेताओं किया बड़ा काम, हर तरफ हो रही सराहना


You may also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *